1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. जितिन प्रसाद थे जातिवादी, लेकिन कांग्रेस में बड़ी सर्जरी की जरूरत : वीरप्पा मोइली

जितिन प्रसाद थे जातिवादी, लेकिन कांग्रेस में बड़ी सर्जरी की जरूरत : वीरप्पा मोइली

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी जितिन प्रसाद के बीजेपी ज्वाइन कर ली है। इसके बाद सियासी बयानबाजी जारी है। कांग्रेस के तमाम बड़े नेता भले ही इससे किसी तरह के नुकसान से इनकार कर रहे हैं, लेकिन पार्टी का कार्यप्रणाली पर जरूर सवाल उठा रहे हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली ने जितिन प्रसाद को संदिग्ध नेता जरूर करार दिया, लेकिन साथ ही पार्टी में बड़ी सर्जरी की जरूरत बताया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Jitin Prasada Was Casteist But Congress Needed Major Surgery Veerappa Moily

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी जितिन प्रसाद के बीजेपी ज्वाइन कर ली है। इसके बाद सियासी बयानबाजी जारी है। कांग्रेस के तमाम बड़े नेता भले ही इससे किसी तरह के नुकसान से इनकार कर रहे हैं, लेकिन पार्टी का कार्यप्रणाली पर जरूर सवाल उठा रहे हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली ने जितिन प्रसाद को संदिग्ध नेता जरूर करार दिया, लेकिन साथ ही पार्टी में बड़ी सर्जरी की जरूरत बताया है।

पढ़ें :- योगी सरकार के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहा है इमाकुलेट कॉन्वेट कनसप्शन स्कूल, अभिभावक परेशान

उन्होंने कहा कि ज्यादा नेता नहीं, सिर्फ जितिन प्रसाद ही छोड़कर गए हैं। वह हमेशा से संदिग्ध थे। वह धर्मनिरपेक्ष नहीं हैं। वह जातिवादी थे और यूपी में जातिवादी राजनीति को कायम रखना चाहते थे। उन्हें कई पद दिए गए थे। पार्टी की विचारधारा के लिए प्रतिबद्ध लोगों को जिम्मेदारी दी जाए।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को बड़ी सर्जरी कराने की जरूरत है। क्षमता और जनाधार वाले लोगों को विभिन्न राज्यों का प्रभार दिया जाना चाहिए। बता दें कि जितिन प्रसाद ने बीते बुधवार को ही केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। इसके बाद उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X