कांग्रेसी नेता जितिन प्रसाद की बहन का वोट किसी और ने डाला, डीएम ने दो को किया सस्पेंड

a

शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में चौथे चरण के लिए हुए लोकसभा चुनाव में पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद की बहन का बैलेट पेपर से वोट किसी और ने डाल दिया इस मामले में जिलाधिकारी ने लेखपाल और नायब तहसीलदार को निलंबित करने का आदेश दिया है।

Jitin Prasadas Sister Finds Her Vote Is Already Cast :

वहीं जिले में आधा दर्जन मतदान केंद्रों पर चुनाव का ग्रामीणों ने विकास कार्य न होने के कारण बहिष्कार किया था। इस पर प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचकर मतदाताओं से काफी अनुरोध किया परंतु मतदाताओं ने प्रशासन के अनुरोध को ठुकरा दिया था।

चुनाव नियंत्रण कक्ष के प्रभारी ज्योति शाक्य ने सोमवार को बताया कि पूर्ण बहिष्कार नहीं हुआ है कुछ वोट पड़े हैं। उन्होंने बताया कि वहीं 5.00 बजे तक जिले में 45 ईवीएम खराब हुई है जिन्हें बदला गया है।  शाक्य ने बताया कि पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद की बहन जब वोट डालने गई तो पता चला कि उनका वोट पहले ही बैलेट पेपर से डाला जा चुका है।

मामला जब जिला अधिकारी के संज्ञान में आया तो उन्होंने चुनाव ड्यूटी में लगे कर्मचारियों के बैलेट से डाले जाने वाले बोर्ड में लापरवाही करने के आरोप में लेखपाल मनोज बाजपेई समेत एक नायब तहसीलदार के निलंबन के आदेश दिए हैं।

शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में चौथे चरण के लिए हुए लोकसभा चुनाव में पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद की बहन का बैलेट पेपर से वोट किसी और ने डाल दिया इस मामले में जिलाधिकारी ने लेखपाल और नायब तहसीलदार को निलंबित करने का आदेश दिया है। वहीं जिले में आधा दर्जन मतदान केंद्रों पर चुनाव का ग्रामीणों ने विकास कार्य न होने के कारण बहिष्कार किया था। इस पर प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचकर मतदाताओं से काफी अनुरोध किया परंतु मतदाताओं ने प्रशासन के अनुरोध को ठुकरा दिया था। चुनाव नियंत्रण कक्ष के प्रभारी ज्योति शाक्य ने सोमवार को बताया कि पूर्ण बहिष्कार नहीं हुआ है कुछ वोट पड़े हैं। उन्होंने बताया कि वहीं 5.00 बजे तक जिले में 45 ईवीएम खराब हुई है जिन्हें बदला गया है।  शाक्य ने बताया कि पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद की बहन जब वोट डालने गई तो पता चला कि उनका वोट पहले ही बैलेट पेपर से डाला जा चुका है। मामला जब जिला अधिकारी के संज्ञान में आया तो उन्होंने चुनाव ड्यूटी में लगे कर्मचारियों के बैलेट से डाले जाने वाले बोर्ड में लापरवाही करने के आरोप में लेखपाल मनोज बाजपेई समेत एक नायब तहसीलदार के निलंबन के आदेश दिए हैं।