कांग्रेस के आरोप पर परेश रावल का जवाब, जो बिकाऊ है उसे ही खरीदा जा सकता है

गुजरात। 2014 में कांग्रेस मुक्त भारत का नारा देने वाली बीजेपी तीन साल बीतने के बाद भी अपनी मुहीम में पूरी तरह से जुटी हुई है। जिस तरह से हाल ही के दिनों में बिहार, यूपी और गुजरात में सियासी उठपटक हुई उसके बाद बीजेपी अपनी इस मुहीम में सफल होती भी नजर आ रही है। विपक्ष के नेता अपनी पार्टी छोड़ बीजेपी का दामन थाम रहे हैं। गुजरात में तो कांग्रेसी विधायकों में जिस तरह से इस्तीफा देने की होड़ दिखी उससे बीजेपी के नेता गदगद हैं। ऐसे ही एक नेता का नाम है पेरश रावल। पेशे से अभिनेता परेश रावल ने कांग्रेस के उन आरोपों पर चुटकी ली है जिनमें बीजेपी पर विधायकों को खरीदने के लिए 15 करोड़ का आॅफर देने का दावा किया था।

गुजरात से सांसद परेश रावल ने अपने अंदाज में कांग्रेस को जवाब देते हुए ट्वीट किया कि कांग्रेस को समझना लेना चाहिए कि खरीदीं वहीं चीजें जातीं हैं जो बिकाऊ होतीं हैं।

परेश रावल का यह ट्वीट कांग्रेस विधायक शक्ति सिंह गोहिल ने दावा के खिलाफ आया है जिसमें बीजेपी ने आठ अगस्त को राज्यसभा की तीन सीटों के लिए गुजरात में होने वाले चुनाव के दौरान क्रॉस-वोटिंग के लिए उसके 22 विधायकों को 15 करोड़ रूपए की पेशकश कर खरीदने की कोशिश की। इसके बाद कांगेरेस के 44 विधायकों को गुजरात से निकालकर बेंगलुरू के एक रिजॉर्ट में पहुंचा दिया गया।

Cong should realise that You only buy things which are for sale !

— Paresh Rawal (@SirPareshRawal) July 31, 2017

एक मीडिया रिपोर्ट में ऐसा भी दावा किया गया था कि कांग्रेस अपने विधायकों की बगावत से इतना डर गई थी कि उसने अपने विधायकों के सेलफोन तक जमा करवा लिये थे। परेश रावल ने कांग्रेस की इसी कार्रवाई पर चुटकी लेते हुए कहा- जिस दौर में मां-बाप के लिए अपने बच्चों को भी उनके मोबाइल से दूर करना मुश्किल है उस दौर में कांग्रेस अपने चुने हुए विधायकों के मोबाइल छीन रही है।