कोरोना संकट में जा रहीं नौकरियां, पेट्रोल-डीजल के दाम को वापस ले सरकार : सोनिया गांधी

sonai
कोरोना संकट में जा रहीं नौकरियां, पेट्रोल-डीजल के दाम को वापस ले सरकार : सोनिया गांधी

नई दिल्ली। कोरोना संकट के दौरान नौकरियों और कारोबार पर बड़ा असर पड़ा है। इस संकट के दौरान हर दिन ​डीजल और पेट्रोल के दामों में भारी बढ़ोत्तरी हो रही है। इसको लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधीा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। सोनिया गांधी ने लिखा कि संकट के वक्त में भी आपकी सरकार लगातार दाम बढ़ा रही है और इससे सैकड़ों करोड़ रुपये कमा चुकी है।

Jobs Going In Corona Crisis Government Withdraw Gasoline And Diesel Prices Sonia Gandhi :

सोनिया की मांग है कि सरकार तुरंत बढ़े हुए दाम वापस ले। सोनिया गांधी ने अपनी चिट्ठी में लिखा कि सरकार ने लॉकडाउन के बीच पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाकर करीब 2.6 लाख करोड़ रुपये कमा लिए हैं। ऐसे वक्त में जब लोग संकट में हैं, तब इस तरह दाम बढ़ाना उनपर और भी संकट पड़ रहा है। ऐसे में सरकार का फर्ज बनता है कि लोगों के संकट को दूर करें।

सोनिया गांधी ने लिखा है कि मुझे समझ नहीं आ रहा है, जब देश में इतनी नौकरियां जा रही हैं और लोगों को जीने तक का संकट आ रहा है, तब सरकार इस तरह पैसा क्यों बढ़ा रही है। आज क्रूड ऑयल का दाम लगातार घट रहा है और सरकार ने पिछले 6 साल में लगातार दाम बढ़ाया ही है। सोनिया गांधी ने लिखा कि सरकार की ओर से पिछले 6 साल में पेट्रोल पर 258 फीसदी और डीजल पर 820 फीसदी एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई है, जिससे करीब 18 लाख करोड़ रुपये कमा लिए हैं।

सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि वो तुरंत इन बढ़े हुए दामों को वापस लें और आम लोगों को राहत पहुंचाएं। बता दें कि पिछले दस दिनों से हर रोज देश में पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी की जा रही है। मंगलवार को भी पेट्रोल में 47 पैसे और डीजल में 75 पैसे की बढ़ोतरी की गई। इसी के साथ दिल्ली में अब पेट्रोल का दाम 76.73 पैसे और डीजल का दाम 74.62 पैसे हो गई है।

नई दिल्ली। कोरोना संकट के दौरान नौकरियों और कारोबार पर बड़ा असर पड़ा है। इस संकट के दौरान हर दिन ​डीजल और पेट्रोल के दामों में भारी बढ़ोत्तरी हो रही है। इसको लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधीा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। सोनिया गांधी ने लिखा कि संकट के वक्त में भी आपकी सरकार लगातार दाम बढ़ा रही है और इससे सैकड़ों करोड़ रुपये कमा चुकी है। सोनिया की मांग है कि सरकार तुरंत बढ़े हुए दाम वापस ले। सोनिया गांधी ने अपनी चिट्ठी में लिखा कि सरकार ने लॉकडाउन के बीच पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाकर करीब 2.6 लाख करोड़ रुपये कमा लिए हैं। ऐसे वक्त में जब लोग संकट में हैं, तब इस तरह दाम बढ़ाना उनपर और भी संकट पड़ रहा है। ऐसे में सरकार का फर्ज बनता है कि लोगों के संकट को दूर करें। सोनिया गांधी ने लिखा है कि मुझे समझ नहीं आ रहा है, जब देश में इतनी नौकरियां जा रही हैं और लोगों को जीने तक का संकट आ रहा है, तब सरकार इस तरह पैसा क्यों बढ़ा रही है। आज क्रूड ऑयल का दाम लगातार घट रहा है और सरकार ने पिछले 6 साल में लगातार दाम बढ़ाया ही है। सोनिया गांधी ने लिखा कि सरकार की ओर से पिछले 6 साल में पेट्रोल पर 258 फीसदी और डीजल पर 820 फीसदी एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई है, जिससे करीब 18 लाख करोड़ रुपये कमा लिए हैं। सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि वो तुरंत इन बढ़े हुए दामों को वापस लें और आम लोगों को राहत पहुंचाएं। बता दें कि पिछले दस दिनों से हर रोज देश में पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी की जा रही है। मंगलवार को भी पेट्रोल में 47 पैसे और डीजल में 75 पैसे की बढ़ोतरी की गई। इसी के साथ दिल्ली में अब पेट्रोल का दाम 76.73 पैसे और डीजल का दाम 74.62 पैसे हो गई है।