रिपोर्ट: जानबूझकर सालों से कैंसर पैदा करने वाला पाउडर बेच रही है जॉनसन एंड जॉनसन

रिपोर्ट: जानबूझकर सालों से कैंसर पैदा करने वाला पाउडर बेच रही है जॉनसन एंड जॉनसन
रिपोर्ट: जानबूझकर सालों से कैंसर पैदा करने वाला पाउडर बेच रही है जॉनसन एंड जॉनसन

नई दिल्ली। मशहूर अमेरिकी फार्मा कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन लंबे समय से आरोप झेल रही है कि इसके बेबी पाउडर से कैंसर होता है। रायटर की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन को यह बात सालों से पता थी कि उनके बेबी टैल्कम पाउडर में एस्बेस्टस है और एस्बेस्टस से कैंसर का खतरा है।

Johnson And Johnson Knew For Decades Asbestos Lurked In Baby Powder Says Report :

दरअसल, रायटर ने अपनी एक रिपोर्ट में अंदरूनी दस्‍तावेजों का हवाला देते हुए बताया है कि जॉनसन एंड जॉनसन के एग्जेक्यूटिव से लेकर माइन मैनेजर, वैज्ञानिक, डॉक्टर और यहां तक कि कंपनी के वकील भी इस बात को जानते थे। लेकिन इसके बावजूद कंपनी सालों से यह प्रोडक्ट बेच रही है।

रायटर की रिपोर्ट के अनुसार, उसने कंपनी के दस्‍तावेजों का अध्ययन करने के बाद चौंकानेवाला खुलासा हुआ कि 1971 से 2000 तक जॉनसन एंड जॉनसन के रॉ पाउडर और बेबी पाउडर की टेस्टिंग में कई बार एस्बेस्टस होने पुष्टि हुई थी। कंपनी ने कॉस्मेटिक टैल्कम पाउडर में एस्बेस्टस की मात्रा को नियंत्रित करने के लिए अमेरिकी रेगुलेटर्स पर दबाव भी बनाया, इसमें वह काफी हद तक सफल भी हुई।

जॉनसन एंड जॉनसन ने नकारे आरोप

रिपोर्ट के मुताबिक, जॉनसन एंड जॉनसन ने सभी आरोप नकारे हैं। कंपनी का कहना है कि याचिकाकर्ताओं के वकीलों ने अपने फायदे के लिए दस्तावेजों से छेड़छाड़ की ताकि कोर्ट में भ्रम का माहौल पैदा किया जा सके। यह उन सभी टेस्ट्स से ध्यान हटाने की कोशिश है जो दावा करते हैं कि हमारे पाउडर में कोई हानिकारक पदार्थ मौजूद नहीं है।

नई दिल्ली। मशहूर अमेरिकी फार्मा कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन लंबे समय से आरोप झेल रही है कि इसके बेबी पाउडर से कैंसर होता है। रायटर की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन को यह बात सालों से पता थी कि उनके बेबी टैल्कम पाउडर में एस्बेस्टस है और एस्बेस्टस से कैंसर का खतरा है।दरअसल, रायटर ने अपनी एक रिपोर्ट में अंदरूनी दस्‍तावेजों का हवाला देते हुए बताया है कि जॉनसन एंड जॉनसन के एग्जेक्यूटिव से लेकर माइन मैनेजर, वैज्ञानिक, डॉक्टर और यहां तक कि कंपनी के वकील भी इस बात को जानते थे। लेकिन इसके बावजूद कंपनी सालों से यह प्रोडक्ट बेच रही है।रायटर की रिपोर्ट के अनुसार, उसने कंपनी के दस्‍तावेजों का अध्ययन करने के बाद चौंकानेवाला खुलासा हुआ कि 1971 से 2000 तक जॉनसन एंड जॉनसन के रॉ पाउडर और बेबी पाउडर की टेस्टिंग में कई बार एस्बेस्टस होने पुष्टि हुई थी। कंपनी ने कॉस्मेटिक टैल्कम पाउडर में एस्बेस्टस की मात्रा को नियंत्रित करने के लिए अमेरिकी रेगुलेटर्स पर दबाव भी बनाया, इसमें वह काफी हद तक सफल भी हुई।

जॉनसन एंड जॉनसन ने नकारे आरोप

रिपोर्ट के मुताबिक, जॉनसन एंड जॉनसन ने सभी आरोप नकारे हैं। कंपनी का कहना है कि याचिकाकर्ताओं के वकीलों ने अपने फायदे के लिए दस्तावेजों से छेड़छाड़ की ताकि कोर्ट में भ्रम का माहौल पैदा किया जा सके। यह उन सभी टेस्ट्स से ध्यान हटाने की कोशिश है जो दावा करते हैं कि हमारे पाउडर में कोई हानिकारक पदार्थ मौजूद नहीं है।