सत्ता का रौब: सीएम के अस्पताल निरीक्षण के दौरान पत्रकारों को इमरजेंसी में किया बंद

cm yogi adityanath
सत्ता का रौब: सीएम के अस्पताल निरीक्षण के दौरान पत्रकारों को इमरजेंसी में किया बंद

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को मुरादाबाद के जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे। इसकी जानकारी पत्रकारों को मिली तो वो लोग भी कवरेज के लिए वहां पहुंच गए। हालाकि जब पत्रकार वहां पहुंचे तो डीएम की मौजूदगी में पुलिस ने करीब बीस पत्रकारों को आपातकालीन चिकित्सा कक्ष में बंद कर दिया गया। जिसके बाद पत्रकारों ने हंगामा कर दिया। तब करीब पंद्रह मिनट बाद उन्हे आजाद किया गया। फिलहाल इस घटना को लेकर आक्रोशित मीडियाकर्मियों की पुलिस से नोकझोंक भी हुई।

Journalists Stop In Hospital Emergency During Cm Inspection Of Muradabaad District Hospital :

बताया जा रहा है कि सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का काफिला मुरादाबाद जिला अस्पताल पहुंचा। सीएम की कवरेज के लिए डेढ़ दर्जन से ज्यादा पत्रकार अस्पताल की इमरजेंसी में पहुंच गए, लेकिन सीएम सीधे वार्ड में पहुंच गए। पत्रकार वहां से निकलते इससे पहले डीएम राकेश कुमार सिंह के निर्देश पर कक्ष का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया गया।

जिसके बाद मीडियाकर्मियों ने हंगामा शुरु कर दिया। इस तरह अचानक रोके जाने से नाराज पत्रकारों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। इसके बाद भी कमरा नहीं खोला गया उल्टा वहां मौजूद एसएसपी के पीआरओ नवल मारवाह को निर्देश दिया गया कि निरीक्षण खत्म होने तक वे पत्रकारों को बाहर न निकलने दें।

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को मुरादाबाद के जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे। इसकी जानकारी पत्रकारों को मिली तो वो लोग भी कवरेज के लिए वहां पहुंच गए। हालाकि जब पत्रकार वहां पहुंचे तो डीएम की मौजूदगी में पुलिस ने करीब बीस पत्रकारों को आपातकालीन चिकित्सा कक्ष में बंद कर दिया गया। जिसके बाद पत्रकारों ने हंगामा कर दिया। तब करीब पंद्रह मिनट बाद उन्हे आजाद किया गया। फिलहाल इस घटना को लेकर आक्रोशित मीडियाकर्मियों की पुलिस से नोकझोंक भी हुई। बताया जा रहा है कि सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का काफिला मुरादाबाद जिला अस्पताल पहुंचा। सीएम की कवरेज के लिए डेढ़ दर्जन से ज्यादा पत्रकार अस्पताल की इमरजेंसी में पहुंच गए, लेकिन सीएम सीधे वार्ड में पहुंच गए। पत्रकार वहां से निकलते इससे पहले डीएम राकेश कुमार सिंह के निर्देश पर कक्ष का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया गया। जिसके बाद मीडियाकर्मियों ने हंगामा शुरु कर दिया। इस तरह अचानक रोके जाने से नाराज पत्रकारों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। इसके बाद भी कमरा नहीं खोला गया उल्टा वहां मौजूद एसएसपी के पीआरओ नवल मारवाह को निर्देश दिया गया कि निरीक्षण खत्म होने तक वे पत्रकारों को बाहर न निकलने दें।