शाह के गृहमंत्री बनने के बाद अध्यक्ष के लिए मंथन तेज, जेपी नड्डा का नाम शीर्ष पर

amit shah
शाह के गृहमंत्री बनने के बाद अध्यक्ष के लिए मंथन तेज, जेपी नड्डा का नाम शीर्ष पर

नई दिल्ली। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के गृहमंत्री बनने के बाद अब अध्यक्ष पद के लिए मंथन जोरों से चल रहा हैं। पार्टी के शीर्ष नेता अब इस पर विचार कर रहे हैं कि पार्टी का अगला राष्ट्रीय अध्यक्ष कौन होगा। बताया जा रहा है ​कि शनिवार को गृह मंत्रालय का पदभार संभालने के बाद देर रात तकरीबन 9 बजे तक अमित शाह ने पार्टी महासचिवों के साथ बैठक की। जिसमें राज्यों के संगठन में जल्दी चुनाव कराए जाने को लेकर चर्चा हुई, जिससे कि अध्यक्ष पद पर भी कोई निर्णय लिया जा सके।

Jp Naddas Name Is On Number 1 In Bjp President Race :

बताया जा रहा है ​पचार प्रतिशत राज्यों में चुनाव कराने के बाद अध्यक्ष पद का निर्णय लिया जा सकता है। इससे पहले सि​तंबर 2018 में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में लोकसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का कार्यकाल 6 महीने के लिए बढ़ाया गया था। अब अमित शाह के गृहमंत्री बनने के बाद अध्यक्ष को लेकर चर्चा जोर पकड़ रही है।

माना जा रहा है कि जेपी नड्डा और भूपेंद्र यादव में किसी एक के नाम पर अध्यक्ष की मुहर लग सकती है। वहीं सूत्रों का कहना है कि जेपी नड्डा का नाम शीर्ष पर है। इसकी मुख्य वजह ये है कि उनके चुनाव प्रभारी रहते हुए पार्टी ने उत्तर प्रदेश में शानदार जीत हासिल की है, इसके बावजूद भी उन्हे मोदी सरकार में मंत्री नहीं बनाया गया है।

वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव व लोकसभा चुनाव में बंगाल के प्रभारी रहे कैलाश विजयवर्गीय का नाम भी बीजेपी अध्यक्ष की रेस में चल रहा है। अब पार्टी आलाकमान अध्यक्ष पद के लिए क्या निर्णय लेते हैं और किसके सिर अध्यक्ष पद का ताज सजेगा, ये तो वक्त ही बताएगा।

नई दिल्ली। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के गृहमंत्री बनने के बाद अब अध्यक्ष पद के लिए मंथन जोरों से चल रहा हैं। पार्टी के शीर्ष नेता अब इस पर विचार कर रहे हैं कि पार्टी का अगला राष्ट्रीय अध्यक्ष कौन होगा। बताया जा रहा है ​कि शनिवार को गृह मंत्रालय का पदभार संभालने के बाद देर रात तकरीबन 9 बजे तक अमित शाह ने पार्टी महासचिवों के साथ बैठक की। जिसमें राज्यों के संगठन में जल्दी चुनाव कराए जाने को लेकर चर्चा हुई, जिससे कि अध्यक्ष पद पर भी कोई निर्णय लिया जा सके। बताया जा रहा है ​पचार प्रतिशत राज्यों में चुनाव कराने के बाद अध्यक्ष पद का निर्णय लिया जा सकता है। इससे पहले सि​तंबर 2018 में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में लोकसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का कार्यकाल 6 महीने के लिए बढ़ाया गया था। अब अमित शाह के गृहमंत्री बनने के बाद अध्यक्ष को लेकर चर्चा जोर पकड़ रही है। माना जा रहा है कि जेपी नड्डा और भूपेंद्र यादव में किसी एक के नाम पर अध्यक्ष की मुहर लग सकती है। वहीं सूत्रों का कहना है कि जेपी नड्डा का नाम शीर्ष पर है। इसकी मुख्य वजह ये है कि उनके चुनाव प्रभारी रहते हुए पार्टी ने उत्तर प्रदेश में शानदार जीत हासिल की है, इसके बावजूद भी उन्हे मोदी सरकार में मंत्री नहीं बनाया गया है। वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव व लोकसभा चुनाव में बंगाल के प्रभारी रहे कैलाश विजयवर्गीय का नाम भी बीजेपी अध्यक्ष की रेस में चल रहा है। अब पार्टी आलाकमान अध्यक्ष पद के लिए क्या निर्णय लेते हैं और किसके सिर अध्यक्ष पद का ताज सजेगा, ये तो वक्त ही बताएगा।