1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. केले के अलावा इन पौधों में भी गुरु वृहस्पति का होता है वास,देवगुरु को करें इन मंत्रों से प्रसन्न

केले के अलावा इन पौधों में भी गुरु वृहस्पति का होता है वास,देवगुरु को करें इन मंत्रों से प्रसन्न

धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक केले के पेड़ (Banana Tree) में साक्षात देवगुरु बृहस्पति का वास होता है और गुरुवार का दिन भगवान बृहस्पति यानी कि भगवान विष्णु (Bhawan Vishnu) का दिन होता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

गुरु वृहस्पति: धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक केले के पेड़ (Banana Tree) में साक्षात देवगुरु बृहस्पति का वास होता है और गुरुवार का दिन भगवान बृहस्पति यानी कि भगवान विष्णु (Bhawan Vishnu) का दिन होता है। ऐसे में अगर आप गुरुवार को केले के पेड़ की पूजा (Worship of Banana Tree) करते हैं तो आप पर भगवान बृहस्पति की आप पर कृपा होगी।

पढ़ें :- Kartik Fast 2021: कार्तिक मास में आकाशदीप भी जलाया जाता, कलियुग में कार्तिक मास-व्रत मोक्ष का साधन है

गुरुवार को केले के पेड़ की पूजा करने से बृहस्पति ग्रह मजबूत होता है और ऐसे लोगों की शादी में रुकावटें नहीं आतीं। गुरु अर्थात बृहस्पति साक्षात रूप में पीपल का वृक्ष है। इसके अलावा केले के वृक्ष, भारंगी/केले की जड़, खड़ी फसल, बंगाली चना और गांठों वाले पादप से जुड़े पौधे पर भी गुरु का अधिकार होता है।

रोज सुबह और शाम को बृहस्पति के मन्त्र का जाप करें
मंत्र ‘ॐ बृं बृहस्पतये नमः’

विष्णु जी के मुख्य मंत्र
विष्णु रूपं पूजन मंत्र-शांता कारम भुजङ्ग शयनम पद्म नाभं सुरेशम। विश्वाधारं गगनसद्र्श्यं मेघवर्णम शुभांगम। लक्ष्मी कान्तं कमल नयनम योगिभिर्ध्यान नग्म्य्म।

ॐ नमोः नारायणाय. ॐ नमोः भगवते वासुदेवाय।

पढ़ें :- अश्विन मास प्रदोष व्रत 2021: अक्टूबर माह के अंतिम प्रदोष व्रत में करें शिव की पूजा, सुख-समृद्धि व निरोगी काया की होती हैप्राप्ति

विष्णु गायत्री महामंत्र- ॐ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।
वन्दे विष्णुम भवभयहरं सर्व लोकेकनाथम।

विष्णु कृष्ण अवतार मंत्र- श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारे। हे नाथ नारायण वासुदेवाय।।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...