सिंधिया ने शिवराज से आधे घंटे तक की गुफ्तगू, राजनैतिक गलियारों में गरमाया माहौल

shivraj sindhiya
सिंधिया ने शिवराज से की आधे घंटे तक की गुफ्तगू, राजनैतिक गलियारों में गरमाया माहौल

भोपाल। कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया सोमवार रात पूर्व मुख्यमंत्री बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान के पास पहुंच गए, जहां उन लोगों के बीच करीब आधे घंटे तक बातचीत हुई। दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में हुई चर्चा के बाद कांग्रेस से लेकर भाजपा के गलियारों में राजनीतिक माहौल गरमा गया।

Jyotiraditya Sindhiya Meets Bjp Leader Shivraj Singh Chauhan For Half An Hour :

बताया जा रहा है कि सिंधिया सोमवार रात ही दिल्ली से भोपाल पहुंचे। यहां से वे वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशोक जैन भाभा के निधन पर उनके निवास श्रद्धांजलि देने पहुंचे और फिर सीधे शिवराज सिंह चौहान के लिंक रोड नंबर एक स्थित निवास पहुंच गए। बताया जा रहा है कि उनके साथ रहे समर्थकों को भी इस मुलाकात के बारे में जानकारी नहीं थी। सूत्र बताते हैं कि दोनों के बीच प्रदेश की मौजूदा राजनीतिक परिस्थितियों से लेकर सरकार के कामकाज आदि मुद्दों पर बातचीत हुई।

फिलहाल इस बारे में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि सौजन्य मुलाकात करने आया था। जब​ उनसे विधानसभा चुनाव के दौरान शिवराज सिंह के बयानों के बारे में उसने सवाल किए गए तो उन्होने कहा कि मैं ऐसा व्यक्ति नहीं हूं कि जो कड़वाहट लेकर पूरी जिंदगी बिताऊं। रात गई, बात गई। मैं आगे की सोचता हूं। विपक्ष की प्रजातंत्र में उतनी ही भूमिका है, जितनी सत्ता पक्ष की होती है। हम लोगों का भी केंद्र में महत्वपूर्ण योगदान है, जैसा भाजपा का मध्यप्रदेश में है।

भोपाल। कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया सोमवार रात पूर्व मुख्यमंत्री बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान के पास पहुंच गए, जहां उन लोगों के बीच करीब आधे घंटे तक बातचीत हुई। दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में हुई चर्चा के बाद कांग्रेस से लेकर भाजपा के गलियारों में राजनीतिक माहौल गरमा गया। बताया जा रहा है कि सिंधिया सोमवार रात ही दिल्ली से भोपाल पहुंचे। यहां से वे वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशोक जैन भाभा के निधन पर उनके निवास श्रद्धांजलि देने पहुंचे और फिर सीधे शिवराज सिंह चौहान के लिंक रोड नंबर एक स्थित निवास पहुंच गए। बताया जा रहा है कि उनके साथ रहे समर्थकों को भी इस मुलाकात के बारे में जानकारी नहीं थी। सूत्र बताते हैं कि दोनों के बीच प्रदेश की मौजूदा राजनीतिक परिस्थितियों से लेकर सरकार के कामकाज आदि मुद्दों पर बातचीत हुई। फिलहाल इस बारे में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि सौजन्य मुलाकात करने आया था। जब​ उनसे विधानसभा चुनाव के दौरान शिवराज सिंह के बयानों के बारे में उसने सवाल किए गए तो उन्होने कहा कि मैं ऐसा व्यक्ति नहीं हूं कि जो कड़वाहट लेकर पूरी जिंदगी बिताऊं। रात गई, बात गई। मैं आगे की सोचता हूं। विपक्ष की प्रजातंत्र में उतनी ही भूमिका है, जितनी सत्ता पक्ष की होती है। हम लोगों का भी केंद्र में महत्वपूर्ण योगदान है, जैसा भाजपा का मध्यप्रदेश में है।