पाकिस्तान कर रहा केमिकल हथियार का इस्तेमाल, पर्रिकर बोले- हम तैयार हैं

नई दिल्ली| डीआरडीओ के एक कार्यक्रम में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के एक बयान ने सबको चौंका दिया है| पर्रिकर ने कहा है कि पाकिस्तान ने अफगानिस्तान से लगी सीमा पर जिन हथियारों का प्रयोग किया है वो केमिकल हथियार हो सकते हैं| उन्होंने कहा कि मैंने अफगानिस्तान और उत्तरी हिस्सों से आई कई तस्वीरों में लोगों के शरीर पर चकत्ते पड़े देखा है| तस्वीरों को देखकर लगता है कि उनपर केमिकल हथियार का प्रयोग किया गया है| हालांकि पर्रिकर ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि भारत किसी भी न्यूक्लियर, केमिकल या बायलॉजिकल हमले से निपटने के लिए पूति तरह तैयार है|




बता दें कि हाल ही में शाहबाज कलंदर की दरगाह पर हुए आतंकी हमले से बौखलाए पाकिस्तान ने अफगानिस्तान सीमा से सटे इलाकों में आतंकियों के खिलाफ जबर्दस्त ऑपरेशन चलाया था| पाकिस्तान ने इस आपरेशन में सैकड़ों आतंकियों को ढेर करने का दावा किया था| शक है कि पाकिस्तान ने इसी दौरान केमिकल हथियार का प्रयोग किया था|




इस दौरान कार्यक्रम में रक्षा पर्रिकर ने सेना को डीआरडीओ के बनाए तीन प्रोडक्ट सौंपे:

1. वेपन लोकेटिंग राडार: यह दुश्मन के हथियारों की मौजूदगी तलाश कर उन्हें तबाह करने के लिए गाइड करेगा|

2. एनबीसी रेकी वीइकल: यह न्यूक्लियर, बायलॉजिकल और केमिकल हथियारों की मौजूदगी का पता लगाने वाला वाहन है|

3. एनबीसी मेडिकल किट: यह न्यूक्लियर, बायोलॉजिकल और केमिकल हथियारों के प्रभावों से बचाने वाली दवाएं हैं|