कैफियत एक्सप्रेस हादसा: 12 डिब्बे हुए डिरेल, 78 लोग घायल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कानपुर-इटावा के बीच औरैया जिले में अछल्दा स्टेशन के पास बुधवार तड़के आजमगढ़ से दिल्ली जा रही कैफियत एक्सप्रेस डंपर से टकराने के बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस हादसे में ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए। बताया जा रहा है, हादसे में 78 लोग घायल हो गए हैं। एडीजी एलओ आनंद कुमार ने बताया, हादसे में 78 लोग घायल हैं, जिनमें चार की हालत गंभीर है।

इस हादसे के बाद कानपुर शताब्दी सहित 12 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है और राजधानी सहित सभी 51 ट्रेनों के रूट बदल दिए गए हैं। दिल्ली-हावड़ा रूट पूरी तरह बाधित हो गया। राजधानी एक्सप्रेस और गोमती एक्सप्रेस का मार्ग बदला गया है। रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी अनिल सक्सेना के मुताबिक, दुर्घटना की वजह से ट्रेन के इंजन सहित 12 डिब्बे पटरी से उतर गए। इस हादसे में 78 लोगों के घायल होने की सूचना है।

{ यह भी पढ़ें:- UP: देवरिया में स्कूल के तीसरी मंजिल से गिरी छात्रा की मौत, स्कूल प्रशासन फरार }

उन्होंने बताया कि हादसे की सूचना मिलते ही रेलवे के अफसर मौके पर पहुंचे। यह घटना तड़के करीब 2.50 बजे हुई। रेलवे कंट्रोल रूम ने घटना की पुष्टि के साथ ही राहत एवं बचाव कार्य शुरू होने का दावा किया है। घायलों को आसपास के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। सूत्रों के अनुसार, ट्रैक के पास फ्रंट कॉरिडोर का काम चल रहा था। इसी के काम में लगा डंपर मानव रहित क्रासिंग पर ट्रेन से टकरा गया।

हादसे की सूचना पर सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में कुलपति डॉक्टर ब्रिगेडियर टी प्रभाकर ने सभी डॉक्टरों को अलर्ट कर दिया है। घायलों को इलाज के लिए यहां लाया जा रहा है। एसडीएम सैफई व सीओ सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर और इमरजेंसी में मौजूद हैं।

{ यह भी पढ़ें:- यूपी में हादसों की रेल: डिरेल हुई पैसेंजर ट्रेन, मालगाड़ी का इंजन पटरी से उतरा }

मुजफ्फरनगर में हो चुका है बड़ा हादसा-

बता दें कि अभी शनिवार को ही पुरी से हरिद्वार जाने वाली उत्कल एक्सप्रेस मुजफ्फरनगर के पास पटरी से उतर गई थी, जिसमें 21 लोगों की मौत हो गई, जबकि 156 लोग घायल हुए थे।

{ यह भी पढ़ें:- भारतीय रेल में निकली 307 रिक्तियां, ऐसे करें आवेदन }