1. हिन्दी समाचार
  2. कैलाश विजयवर्गीय का ममता बनर्जी पर बड़ा हमला,कहा, वो पश्चिम बंगाल की CM हैं, बांग्लादेश की नहीं

कैलाश विजयवर्गीय का ममता बनर्जी पर बड़ा हमला,कहा, वो पश्चिम बंगाल की CM हैं, बांग्लादेश की नहीं

Kailash Vijayvargiyas Big Attack On Mamta Banerjee Said She Is The Chief Minister Of West Bengal And Not Of Bangladesh

By बलराम सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (एनआरसी) और नागरिकता संशोधन विधेयक (कैब) को लेकर जारी गतिरोध के बीच बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तीखा हमला बोला है। विजयवर्गीय ने तंज कसते हुए कहा कि तृणमूल कांग्रेस की मुखिया बांग्लादेश की मुख्यमंत्री नहीं हैं।

पढ़ें :- पुणे हादसा: हादसे में मरने वाले मजदूरों के परिवारों को 25-25 लाख मुआवजे का ऐलान

कैलाश विजयवर्गीय ने मंगलवार को इंदौर में कहा कि मुझे पता नहीं कि ममता बनर्जी ने भारत का संविधान पढ़ा भी है या नहीं? भारत में संघीय ढांचे के तहत केंद्र और राज्य सरकारें अपनी जिम्मेदारियों का अलग-अलग निर्वहन करती हैं। नागरिकता के संबंध में कानून बनाकर इसे संसद में पारित करना केंद्र सरकार का काम है।

पश्चिम बंगाल के प्रभारी और भाजपा महासचिव विजयवर्गीय ने कहा कि संघीय ढांचे में बनर्जी भला कैसे कह सकती हैं कि वह इस कानून (नागरिकता संशोधन विधेयक) को पश्चिम बंगाल में लागू नहीं होने देंगी। वह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री हैं, बांग्लादेश की नहीं।

बता दें कि तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने सोमवार को खड़गपुर में एक रैली में कहा था कि एनआरसी और नागरिकता विधेयक से डरने की कोई जरूरत नहीं है। हम इसे पश्चिम बंगाल में कभी भी लागू नहीं करेंगे। वे इस देश के किसी वैध नागरिक को बाहर नहीं फेंक सकते, न ही उसे शरणार्थी बना सकते हैं।

भाजपा महासचिव ने बनर्जी पर व्यंग्य करते हुए कहा कि यदि इस तरह के बचकाना बयान कोई मुख्यमंत्री देता है, तो उसके सामान्य ज्ञान पर सिर्फ हंसा जा सकता है। विजयवर्गीय ने यह भी कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक के लोकसभा में पारित होने के साथ ही देश की जनता के सामने भाजपा के विपक्षी दलों के चेहरे भी बेनकाब हुए हैं जो तथाकथित धर्मनिरपेक्षता के नाम पर सत्ता की कुर्सी से चिपके हुए थे।

पढ़ें :- आजमगढ़ जेल में रची गई थी अजीत की हत्या की साजिश

कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि धर्मनिरपेक्षता का राग अलापने वाली कांग्रेस ने इस विधेयक का पूरी ताकत से विरोध किया है। अब आप कांग्रेस की धर्मनिरपेक्षता देखिये कि केरल में वह मुस्लिम लीग से समझौता करती है, तो महाराष्ट्र में शिवसेना से हाथ मिलाकर सरकार बनाती है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...