कलराज मिश्र ने कहा – गौमांस खाना है तो खाओ लेकिन शोर न मचाओ

Kalraj Mishra Says Eat Beef If You Want But Dont Shout

नई दिल्ली। गौमांस को लेकर राजनीतिक गलियारों में मचे कौलुहल के बीच केंद्र की सत्तारूढ़ मोदी सरकार के एक और मंत्री ने अपनी उपस्थिती दर्ज करवाई है। केंद्रीय सूक्ष्म, लघु उद्योग मंत्री कलराज मिश्र ने गौमांस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि गौमांस खाना है तो खाये, इसमें कोई ऐतराज नहीं लेकिन यह जरूर ध्यान रखे कि इससे दूसरों की भावनाएं न आहत हो।

कलराज मिश्र ने यह बयान एक अंग्रेजी अखबार को दिये साक्षात्कार के दौरान जम्मू एवं कश्मीर के निर्दलीय विधायक शेख अब्दुल रशीद के संबंध में पूछे गए प्रश्न के बाद दिया। व्यक्तिगत स्तर पर जो गौमांस खाते हैं वो खाएं, उन्हें रोका कैसे जा सकता है, लेकिन जश्न और पार्टी आयोजित कर इसका प्रचार करना ठीक नहीं है क्योंकि इससे दूसरों की भावनाएं आहत होती हैं।

 कलराज मिश्र ने कहा कि लोग इस मुद्दे को लेकर ध्रुवीकरण यानी बांटने की कोशिश कर रहे हैं जो काफी खतरनाक है। इस समय समाज को मित्रता और विश्वास की जरूरत है। उन्होने कहा कि लोग ध्रुवीकरण के लिए भाजपा को दोष दे रहे हैं जबकि ऎसा दूसरी पार्टियां कर रही है। बिहार में लालू यादव ऎसा कर रहे हैं। यूपी में अन्य पार्टियां इस मुद्दे को उठा रही है और इस मामले को जिंदा रख रही है।

यूपी और बिहार चुनावों के बारे में उन्होंने कहा कि बिहार में एनडीए और महागठबंधन दो पक्षों के बीच मुकाबला है जबकि यूपी में सपा और बसपा दोनों मजबूत है, कांग्रेस यहां पर मजबूत नहीं है और फिर भाजपा है। यहां तीन पार्टियों के बीच मुकाबला है। दादरी मामले में उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने भाजपा को वोट दिया उन्होंने ऎसा किया तो आप यह नहीं कह सकते कि भाजपा ने यह किया है। यह दुर्भाग्य है कि राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने भी इसे पूर्व नियोजित माना।

 

नई दिल्ली। गौमांस को लेकर राजनीतिक गलियारों में मचे कौलुहल के बीच केंद्र की सत्तारूढ़ मोदी सरकार के एक और मंत्री ने अपनी उपस्थिती दर्ज करवाई है। केंद्रीय सूक्ष्म, लघु उद्योग मंत्री कलराज मिश्र ने गौमांस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि गौमांस खाना है तो खाये, इसमें कोई ऐतराज नहीं लेकिन यह जरूर ध्यान रखे कि इससे दूसरों की भावनाएं न आहत हो।कलराज मिश्र ने यह बयान एक अंग्रेजी अखबार को दिये साक्षात्कार के दौरान जम्मू एवं…