Kamada Ekadashi 2019: आज है कामदा एकादशी, न रख पाएं व्रत तो करें ये उपाय

Kamada Ekadashi 2019: आज है कामदा एकादशी, न रख पाएं व्रत तो करें ये उपाय
Kamada Ekadashi 2019: आज है कामदा एकादशी, न रख पाएं व्रत तो करें ये उपाय

नई दिल्ली। मान्यता है कि कामदा एकादशी का व्रत विष्णु भगवान की कृपा पाने के लिए किया जाता है। इस बार  कामदा एकादशी का व्रत 15 अप्रैल को पड़ रहा है। इस दिन को बड़ा ही दिव्य और चमत्कारी दिन माना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु के साथ वासुदेव श्रीकृष्ण की उपासना से सभी सांसारिक दोष और पापों का नाश होता है। कहा जाता है कि जो इंसान इस व्रत को पूरी विधि से करता है, उसके सारे पाप स्वयं ही नष्ट हो जाते हैं। चलिए जानते हैं इस विशेष दिन से जुड़ी खास बातों के बारे में…..

Kamada Ekadashi 2019 Significance Of Bhagwan Krishna And Vishnu Pujan :

व्रत न रख पाएं तो करें ये उपाय—

  • स्नान के बाद भगवान विष्णु या श्रीकृष्ण की पूजा करें।
  • सात्विक रहें औऱ मन को पवित्र रखें।
  • इस दिन अन्न और भारी भोजन खाने से परहेज करें।
  • ज्यादा से ज्यादा समय ईश्वर की उपासना में लगाएं।
  • कामदा एकादशी के दिन भगवान श्रीकृष्ण की भी पूजा-उपासना का विधान है। इस दिन श्रीकृष्ण की विधिवत पूजा करने से इंसान अपने सभी पापों से मुक्ति पा सकता है।

ऐसे करें कामदा एकादशी की पूजा

  • सुबह नहाकर पहले सूर्य को अर्घ्य दें, फिर भगवान कृष्ण की आराधना करें।
  • कान्हा को पीले फूल, फल, पंचामृत और तुलसी दल अर्पित करें।   
  • इसके बाद भगवान कृष्ण का ध्यान करें और उनके मन्त्रों का जाप करें।
  • इस दिन पूरी तरह जलीय आहार या फलाहार लें तो इस व्रत के उत्तम परिणाम मिलेंगे।
  • अगले दिन सुबह किसी निर्धन को एक समय का भोजन या अन्न दान करें।
  • इस दिन मन को ईश्वर में लगाएं, क्रोध ना करें और झूठ ना बोलें।

संतान प्राप्ति के लिए रखें एकादशी व्रत—

  • पति-पत्नी संयुक्त रूप से भगवान कृष्ण को पीला फल और पीले फूल अर्पित करें।
  • एक साथ संतान गोपाल मंत्र का कम से कम 11 माला जाप करें।
  • संतान प्राप्ति की प्रार्थना करें।
  • फल को पति-पत्नी प्रसाद के रूप में ग्रहण करें।

नई दिल्ली। मान्यता है कि कामदा एकादशी का व्रत विष्णु भगवान की कृपा पाने के लिए किया जाता है। इस बार  कामदा एकादशी का व्रत 15 अप्रैल को पड़ रहा है। इस दिन को बड़ा ही दिव्य और चमत्कारी दिन माना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु के साथ वासुदेव श्रीकृष्ण की उपासना से सभी सांसारिक दोष और पापों का नाश होता है। कहा जाता है कि जो इंसान इस व्रत को पूरी विधि से करता है, उसके सारे पाप स्वयं ही नष्ट हो जाते हैं। चलिए जानते हैं इस विशेष दिन से जुड़ी खास बातों के बारे में.....

व्रत न रख पाएं तो करें ये उपाय---

  • स्नान के बाद भगवान विष्णु या श्रीकृष्ण की पूजा करें।
  • सात्विक रहें औऱ मन को पवित्र रखें।
  • इस दिन अन्न और भारी भोजन खाने से परहेज करें।
  • ज्यादा से ज्यादा समय ईश्वर की उपासना में लगाएं।
  • कामदा एकादशी के दिन भगवान श्रीकृष्ण की भी पूजा-उपासना का विधान है। इस दिन श्रीकृष्ण की विधिवत पूजा करने से इंसान अपने सभी पापों से मुक्ति पा सकता है।

ऐसे करें कामदा एकादशी की पूजा

  • सुबह नहाकर पहले सूर्य को अर्घ्य दें, फिर भगवान कृष्ण की आराधना करें।
  • कान्हा को पीले फूल, फल, पंचामृत और तुलसी दल अर्पित करें।   
  • इसके बाद भगवान कृष्ण का ध्यान करें और उनके मन्त्रों का जाप करें।
  • इस दिन पूरी तरह जलीय आहार या फलाहार लें तो इस व्रत के उत्तम परिणाम मिलेंगे।
  • अगले दिन सुबह किसी निर्धन को एक समय का भोजन या अन्न दान करें।
  • इस दिन मन को ईश्वर में लगाएं, क्रोध ना करें और झूठ ना बोलें।

संतान प्राप्ति के लिए रखें एकादशी व्रत---

  • पति-पत्नी संयुक्त रूप से भगवान कृष्ण को पीला फल और पीले फूल अर्पित करें।
  • एक साथ संतान गोपाल मंत्र का कम से कम 11 माला जाप करें।
  • संतान प्राप्ति की प्रार्थना करें।
  • फल को पति-पत्नी प्रसाद के रूप में ग्रहण करें।