1. हिन्दी समाचार
  2. शिक्षा
  3. Google ने महान शिक्षाविद कामिनी रॉय के सम्मान पर बनाया खास Doodle

Google ने महान शिक्षाविद कामिनी रॉय के सम्मान पर बनाया खास Doodle

By आस्था सिंह 
Updated Date

Kamini Roy In Google Doodle Know About Her

नई दिल्ली। गूगल (Google) ने आज अपना डूडल (Doodle) बांग्ला कवयित्री और महान शिक्षाविद कामिनी रॉय (Kamini Roy) को समर्पित किया है। 12 अक्टूबर 1864 में बंगाल में जन्मीं कामिनी रॉय की आज यानी 12 अक्टूबर को 155वीं जयंती है। कामिनी रॉय आजादी से पहले की पहली भारतीय महिला हैं जो ग्रैजुएट हैं। कामिनी ने ब्रिटिश शासनकाल के दौरान 1886 में ऑनर्स की डिग्री हासिल की थी।

पढ़ें :- सरकारी नौकरी: AIIMS भुवनेश्वर ने 90 पदों पर जारी किए आवेदन, ऐसे करें अप्लाई

बात करें कामिनी की तो वो बंगाल के धनी परिवार से थीं उनके भाई कोलकता के मेयर थे, वहीं उनकी बहेन नेपाल के शाही परिवार में डॉक्टर थीं। कामिनी रॉय की सबसे खास बात यह है कि उन्होने उस समय ग्रैजुएशन किया था, जब भारतीय समाज कई तरह की कुरीतियों से ग्रसित था और महिलाओं को घर से बाहर जाकर शिक्षा ग्रहण करने की इजाजत नहीं थी। बहुमुखी प्रतिभा की धनी कामिनी ने बेथुन कॉलेज से संस्कृत में बीए ऑनर्स किया और उसी कॉलेज में शिक्षिका के रूप में कार्य करने लगीं।

महिलाओं के लिए समर्पित थी कामिनी रॉय

1905 में पति केदार नाथ रॉय के देहावसान के बाद कामिनी रॉय ने पूरी तरह से महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़ते हुए खुद को समर्पित कर दिया। कामिनी ने महिलाओं में जागरुकता फैलाने और उन्हें समाज में बराबरी का अधिकार दिलाने के लिए जमकर संघर्ष किया। उन्होंने महिलाओं को वोट का अधिकार दिलाने के लिए आन्दोलन चलाया जिसका परिणाम लंबे समय बाद यानि 1926 को देखने को मिला और पहली बार महिलाओं को वोट डालने का अधिकार मिला। 1933 में इस महान समाज सेविका और कवयित्री का देहांत हो गया

पढ़ें :- ESIC Hospital में डॉक्टरों के पदों पर हो रही है सीधी भर्ती, ऐसे करें जल्द अप्लाई

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X