1. हिन्दी समाचार
  2. कमलेश तिवारी हत्याकांड : डीजीपी बोले-विवादित बयान बना हत्या का कारण, सूरत में रची थी साजिश

कमलेश तिवारी हत्याकांड : डीजीपी बोले-विवादित बयान बना हत्या का कारण, सूरत में रची थी साजिश

By शिव मौर्या 
Updated Date

Kamlesh Tiwari Murder Dgp Says Planning Of Murder Since Disputed Statement 3 Detained

लखनऊ। लखनऊ के नाका क्षेत्र में हुई हिन्दू समाज पार्टी कमलेश तिवारी की हत्या के बाद लखनऊ पुलिस ने गुजरात पुलिस की मदद से रशीद अहमद पठान, मौलाना मोहिसन और फैजान को हिरासत में लिया है। डीजीपी ने कहा कि, इसके अलावा दो अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया गया था, जिनसे पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया है। हालांकि पुलिस दोनों पर नजर रखे हुए हैं। वहीं, हत्याकांड में शमिल दो अन्य आरोपियों की पुलिस तलाश कर रही है, जिन्हें जल्द गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

पढ़ें :- मेहनत के बाद भी नहीं मिलता फल, तो आपके कुंडली में है कालशर्प दोष करे ये उपाए

डीजीपी ओपी सिंह ने दावा किया है कि, कमलेश तिवारी हत्याकांड को 24 घंटे के अंदर सुलझा लिया गया है। रशीद पठान नाम का शख्स इस हत्याकांड का मुख्य आरोपी है। हिरासत में लिए गए तीनों लोगों के हत्या में शामिल होने के अहम सुराग मिले हैं।

डीजीपी ने बताया कि हिरासत में लिए गए शख्स के नाम रशीद अहमद पठान, मौलाना मोहसिन शेख और फैजान है। रशीद अहमद पठान 23 साल है। डीजीपी ने बताया कि रशीद अहमद पठान को कम्प्यूटर का अच्छा खासा ज्ञान है, लेकिन ये पेशे से दर्जी का काम करता हैं।

वहीं, हिरासत में लिए गए दूसरे शख्स मौलाना मोहसिन शेख की उम्र 24 साल है और ये शख्स एक साड़ी की दुकान में काम करता है। वहीं, हिरासत में लिया गया तीसरे शख्स का नाम फैजान है और उसकी उम्र 21 साल है। ये शख्स भी सूरत में रहता है और ये जूते की दुकान में काम करता है।

पढ़ें :- 12 मई 2021 का राशिफल: इन 5 राशि के जातकों को रहना होगा बेहद सावधान, इन्हे होगा आर्थिक लाभ

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X