कमलेश तिवार मर्डर : गुजरात एटीएस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया, मौलान की गिरफ्तारी से इंकार

gujrat ats
कमलेश तिवार मर्डर : गुजरात एटीएस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया, मौलान की गिरफ्तारी से इंकार

लखनऊ। हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या में पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां आतंकी कनेक्शन खंगाल रहीं हैं। मर्डर केस में पड़ताल कर रही पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे हैं। हत्याकांड में गुजरात कनेक्शन भी सामने आ चुका है। वहीं, गुजरात एटीएस ने सूरत से 3 लोगों को हिरासत में लिया है।

Kamlesh Tiwari Murder Gujarat Ats Detained Three People :

वहीं, यूपी पुलिस ने साफ किया है कि बिजनौर से मौलाना अनवारुल हक की इस मामले में गिरफ्तारी नहीं हुई है। इससे पहले खबर आई थी कि मौलाना को नगीना में गिरफ्तार किया गया है। मौलाना अनवारुल हक ने वर्ष 2016 में कमलेश का सिर कलम करने पर 51 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था।

कमलेश तिवारी हत्याकांड के बाद वारदात में गुजरात कनेक्शन सामने आया है। गुजरात एटीएस ने सूरत से तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है। सूरत क्राइम ब्रांच की मदद से गुजरात एटीएस ने कार्रवाई को अंजाम दिया है। बताया जा रहा है कि एटीएस ने राशिद, मोहसिन और फजल नाम के तीन संदिग्धों को पकड़ा है और उनसे अभी पूछताछ की जा रही है।

बता दें कि कमलेश तिवारी मर्डर के बाद घटनास्थल से एक मिठाई का डिब्बा मिला था, जिस पर सूरत की एक दुकान का नाम छपा था। जांच पड़ताल में वहां के सीसीटीवी फुटेज में आरोपी दिखे हैं, जिसके आधार पर गुजरात एटीएस ने यह कार्रवाई की है।

 

लखनऊ। हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या में पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां आतंकी कनेक्शन खंगाल रहीं हैं। मर्डर केस में पड़ताल कर रही पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे हैं। हत्याकांड में गुजरात कनेक्शन भी सामने आ चुका है। वहीं, गुजरात एटीएस ने सूरत से 3 लोगों को हिरासत में लिया है। वहीं, यूपी पुलिस ने साफ किया है कि बिजनौर से मौलाना अनवारुल हक की इस मामले में गिरफ्तारी नहीं हुई है। इससे पहले खबर आई थी कि मौलाना को नगीना में गिरफ्तार किया गया है। मौलाना अनवारुल हक ने वर्ष 2016 में कमलेश का सिर कलम करने पर 51 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। कमलेश तिवारी हत्याकांड के बाद वारदात में गुजरात कनेक्शन सामने आया है। गुजरात एटीएस ने सूरत से तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है। सूरत क्राइम ब्रांच की मदद से गुजरात एटीएस ने कार्रवाई को अंजाम दिया है। बताया जा रहा है कि एटीएस ने राशिद, मोहसिन और फजल नाम के तीन संदिग्धों को पकड़ा है और उनसे अभी पूछताछ की जा रही है। बता दें कि कमलेश तिवारी मर्डर के बाद घटनास्थल से एक मिठाई का डिब्बा मिला था, जिस पर सूरत की एक दुकान का नाम छपा था। जांच पड़ताल में वहां के सीसीटीवी फुटेज में आरोपी दिखे हैं, जिसके आधार पर गुजरात एटीएस ने यह कार्रवाई की है।