कमलेश तिवारी हत्याकांड : कैसरबाग के खालसा होटल से बैग और खून से सना भगवा कुर्ता बरामद

kamlesh tiwari
कमलेश तिवारी हत्याकांड : कैसरबाग के खालसा होटल में ठहरे थे हत्यारे, खून से सने मिले कपड़े

लखनऊ। राजधानी के नाका क्षेत्र में हुई कमलेश तिवारी हत्याकांड में पुलिस को एक अहम सुराग हाथ लगा है। जांच में पता लगा है कि हत्यारे कैसरबाग क्षेत्र के लालबाग में स्थित खलासा इन होटल में रूके थे। पुलिस को होटल के एक कमरे से खून से सने भगवा कपड़े समेत अन्य सामान बरामद हुआ है।

Kamlesh Tiwari Murder Killers Stayed In Khalsa Hotel In Kaiserbagh Blood Stained Clothes :

लालबाग में स्थित खालसा इन होटल में दो संदिग्ध व्यक्ति ठहरे हुए थे। पुलिस को जैसे ही सूचना मिली फील्ड युनिट के साथ पुलिस की टीम वहां पहुंच गई। कमरे की जांच करने पर बैक के साथ कपड़े भी बरामद किए गए। पुलिस का कहना है कि, होटल के रजिस्टर में दर्ज नामों के मुताबिक इस होटल में शेख असफाक हुसैन और पठान मोइनुद्दीन अहमद ठहरे थे, जो गुजरात के रहने वाले हैं।

होटल के कमरे के अंदर बनी अलमारी में बैक, लोअर, लाल रंग का कुर्ता पड़ा है। बेड़ पर भगवा रंग का कुर्ता पड़ा है। जब कपड़े को उलट कर देखा गया तो उसमें खून के धब्बे नजर आए। इसके साथ ही तौलिया खोलने पर भी खून के धब्बे मिले हैं। इसके साथ ही वहां जिओ फोन का डिब्बा, सेविंग किट, चश्मे का डिब्बा भी मिला है। कानूनी कार्रवाई के बाद होटल का कमरा सील कर दिया गया है।

हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड में नई जानकारियां सामने आई हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हत्यारे गूगल मैप से कमलेश तिवारी के दफ्तर की लोकेशन तलाश खुर्शीदबाग पहुंचे थे। आरोपी वारदात को अंजाम देने के लिए ट्रेन से लखनऊ आए थे। लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन से कमलेश तिवारी के घर का पता पूछते हुए दोनों आरोपी गणेशगंज पहुंचे थे।

लखनऊ। राजधानी के नाका क्षेत्र में हुई कमलेश तिवारी हत्याकांड में पुलिस को एक अहम सुराग हाथ लगा है। जांच में पता लगा है कि हत्यारे कैसरबाग क्षेत्र के लालबाग में स्थित खलासा इन होटल में रूके थे। पुलिस को होटल के एक कमरे से खून से सने भगवा कपड़े समेत अन्य सामान बरामद हुआ है। लालबाग में स्थित खालसा इन होटल में दो संदिग्ध व्यक्ति ठहरे हुए थे। पुलिस को जैसे ही सूचना मिली फील्ड युनिट के साथ पुलिस की टीम वहां पहुंच गई। कमरे की जांच करने पर बैक के साथ कपड़े भी बरामद किए गए। पुलिस का कहना है कि, होटल के रजिस्टर में दर्ज नामों के मुताबिक इस होटल में शेख असफाक हुसैन और पठान मोइनुद्दीन अहमद ठहरे थे, जो गुजरात के रहने वाले हैं। होटल के कमरे के अंदर बनी अलमारी में बैक, लोअर, लाल रंग का कुर्ता पड़ा है। बेड़ पर भगवा रंग का कुर्ता पड़ा है। जब कपड़े को उलट कर देखा गया तो उसमें खून के धब्बे नजर आए। इसके साथ ही तौलिया खोलने पर भी खून के धब्बे मिले हैं। इसके साथ ही वहां जिओ फोन का डिब्बा, सेविंग किट, चश्मे का डिब्बा भी मिला है। कानूनी कार्रवाई के बाद होटल का कमरा सील कर दिया गया है। हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड में नई जानकारियां सामने आई हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हत्यारे गूगल मैप से कमलेश तिवारी के दफ्तर की लोकेशन तलाश खुर्शीदबाग पहुंचे थे। आरोपी वारदात को अंजाम देने के लिए ट्रेन से लखनऊ आए थे। लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन से कमलेश तिवारी के घर का पता पूछते हुए दोनों आरोपी गणेशगंज पहुंचे थे।