1. हिन्दी समाचार
  2. कमलेश तिवारी हत्याकांड: हत्यारों ने बरेली में बिताई थी रात, एक मौलाना ने की थी मदद

कमलेश तिवारी हत्याकांड: हत्यारों ने बरेली में बिताई थी रात, एक मौलाना ने की थी मदद

By बलराम सिंह 
Updated Date

Kamlesh Tiwari Murder Murderers Spent The Night In Bareilly A Maulana Helped

बरेली। हिंदू महासभा नेता कमलेश तिवारी के हत्यारों को बरेली में एक मौलाना ने पनाह दी थी। बरेली के किला के मलूकपुर इलाके में रहने वाला यह मौलाना हाल ही में रईसों की सूची में शामिल हुआ है। उसने कमलेश तिवारी के हत्यारों का बरेली में नसिर्फ इलाज कराया बल्कि यहां से निकलने में भी उनकी मदद की। एसटीएफ व अन्य जांच एजेंसियां इस इनपुट पर काम कर रही हैं।

पढ़ें :- कोरोना के नए स्‍ट्रेनों पर भी असरदार है कोवैक्सिन, भारत बायोटेक का दावा

एसटीएफ सूत्रों के मुताबिक लखनऊ में कमलेश तिवारी की हत्या करने के बाद हत्यारे शुक्रवार रात बरेली पहुंचे थे। रात भर बरेली में रुककर वह सुबह गाजियाबाद की ओर निकल गए। अभी तक की छानबीन में पता चला कि हत्यारे सुबह किसी ट्रेन से बरेली से निकले लेकिन यह पता नहीं लग पाया कि लखनऊ से उनके बरेली आने का माध्यम क्या था। हत्यारे बरेली में किसी होटल में रुके या अपने मददगार के घर, इसकी भी पुष्टि नहीं हो पा रही है। जांच एजेंसियों का मानना है कि रात में हत्यारों ने बरेली में ही रुककर खाना खाया और आराम किया।

सूत्रों के मुताबिक रविवार को एसएसपी बरेली को किसी ने गुमनाम पत्र भेजकर सूचना दी कि मलूकपुर के एक मौलाना ने बरेली में हत्यारोपियों की मदद की थी। इस मौलाना के आतंकी संगठनों से भी संपर्क होने का दावा किया गया है। यह भी कहा गया है कि दो साल में ही इस मौलाना ने अकूत सम्पत्ति अर्जित की है। पुलिस और जांच एजेंसियों पत्र में दिए गए इनपुट के आधार पर गोपनीय जांच शुरू कर दी है।

शनिवार रात लखनऊ पुलिस हत्यारोपियों की तलाश में यहां आई थी और फिर नए इनपुट के बाद गाजियाबाद की ओर निकल गई। स्थानीय एजेंसियां आरोपियों के बरेली कनेक्शन की जांच कर रही हैं। बताया जा रहा है कि बरेली के एक निजी अस्पताल में एक बदमाश ने चाकू चलाते वक्त अपने हाथ में लगी चोट का एक्सीडेंट बताकर इलाज भी कराया था। हालांकि रविवार को काफी छानबीन के बाद भी एसटीएफ उस अस्पताल और डॉक्टर का सुराग नहीं खोज पाई।

पढ़ें :- दुखद : रात भर संक्रमित भाई के शव के साथ रोया, सुबह दोनों की साथ में उठी अर्थी

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X