1. हिन्दी समाचार
  2. 49 हस्तियों के आरोप के जवाब में कंगना रनौत समेत 61 बड़ी हस्तियों का खुला खत

49 हस्तियों के आरोप के जवाब में कंगना रनौत समेत 61 बड़ी हस्तियों का खुला खत

Kangana Ranaut Among 61 Personalities Write Open Letter Selective Outrage

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर 49 हस्तियों ने पत्र लिखा था। अब इसके जवाब में विभिन्न क्षेत्रों की 61 हस्तियों ने खुला पत्र जारी कर जवाबी हमला किया है। इस खत को लिखने वाली हस्तियों में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत, गीतकार प्रसून जोशी, क्लासिकल डांसर और सांसद सोनल मानसिंह, वादक पंडित विश्व मोहन भट्ट, फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर और विवेक अग्निहोत्री शामिल हैं।

पढ़ें :- पैतृक गांव अस्थियां लेकर पहुंचे चिराग पासवान, कहा- पापा के जाने के बाद मैं अकेला पड़ गया हूं

खुला पत्र में प्रधानमंत्री मोदी को भीड़ हिंसा पर खत लिखने वाली हस्तियों को देश का ‘स्वयंभू गार्जियन’ करार देते हुए तंज कसा गया है। उनके पत्र लिखने की मंशा पर सवाल उठाते हुए इसे राजनीतिक पूर्वाग्रह बताया गया है। खत में झूठे और अपमानजनक आरोपों पर सवाल उठाए गए हैं। इसमें पूछा गया है कि जब आदिवासी और हाशिए पर मौजूद लोगों को नक्सलियों द्वारा निशाना बनाया जाता है तब सेलिब्रिटी चुप क्यों रहते हैं।

इन 61 हस्तियों ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखने वाली हस्तियों पर बरसते हुए लिखा है कि जब कश्मीर में अलगाववादियों ने स्कूल बंद करवा दिए तब ये लोग कहां थे। जेएनयू में हुई नारेबाजी प्रकरण को लेकर सवाल खड़े करते हुए पूछा गया है कि आखिर इन लोगों ने देश के टुकड़े-टुकड़े करने के नारों पर अपनी बात क्यों नहीं रखी।

पत्र को लेकर कंगना रनौत ने कहा, ‘कुछ लोग गलत बातें पैदा करने के लिए अपने पद का दुरुपयोग कर रहे हैं। ऐसा कहना ठीक नहीं है कि मोदी सरकार में चीजें सही नहीं चल रही है।

61 लोगों में ये हस्तियां शामिल हैं : गीतकार और लेखक प्रसून जोशी, शास्त्रीय नृत्यांगना सोनल मानसिंह, फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत, मधुर भंडारकर, पंडित विश्वमोहन भट्‍ट, विवेक अग्निहोत्री, पल्लवी जोशी, अशोक पंडित, भोजपुरी गायिका मालिनी अवस्थी, प्रो. अचिंत्य विश्वास, डॉ. स्वप्न दासगुप्ता, पूर्व कुलपतिद्वय स्मृति कुमार सरकार, प्रो. राधारमण चक्रवर्ती, फिल्म अभिनेत्री कंचना मोइत्रा, लेखक पृथ्वीराज सेन, प्रो. सिराजुल इस्लाम आदि पत्र लिखने वालों में शामिल हैं।

पढ़ें :- सरकारी नौकरी: आर्मी पब्लिक स्कूल ने निकाली 137 टीचर्स की भर्ती, ऐसे करें अप्लाई

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...