1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Kangna के फिर बिगड़े बोल- गांधी थे सत्ता के भूखे और चालाक, दूसरा गाल आगे करने से नहीं मिली आजादी

Kangna के फिर बिगड़े बोल- गांधी थे सत्ता के भूखे और चालाक, दूसरा गाल आगे करने से नहीं मिली आजादी

बॉलीवुड अभिनेत्री पद्मश्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने एक बार फिर से महात्मा गांधी के खिलाफ जहर उगला है। कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने इंस्टाग्राम स्टोरीज पर लंबे विवादित मेसेज पोस्ट किए हैं। इस पोस्ट के बहाने के एक बार फिर महात्मा गांधी पर निशाना साधा है। कंगना जहां पहले मैसेज में उन्हें सत्ता का भूखा और चालाक बताया है। वहीं दूसरे पोस्ट में लिखा है कि गांधी जी चाहते थे कि भगत सिंह को फांसी हो जाए। कंगना ने लोगों को सलाह दी है कि वह अपने हीरो समझदारी से चुनें। उन्होंने यह भी लिखा है कि झापड़ मारने वाले के सामने दूसरा गाल आगे करने से आजादी नहीं मिलती है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री पद्मश्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने एक बार फिर से महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के खिलाफ जहर उगला है। कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने इंस्टाग्राम स्टोरीज पर लंबे विवादित मेसेज पोस्ट किए हैं। इस पोस्ट के बहाने के एक बार फिर महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) पर निशाना साधा है। कंगना जहां पहले मैसेज में उन्हें सत्ता का भूखा और चालाक बताया है। वहीं दूसरे पोस्ट में लिखा है कि गांधी जी चाहते थे कि भगत सिंह को फांसी हो जाए। कंगना ने लोगों को सलाह दी है कि वह अपने हीरो समझदारी से चुनें। उन्होंने यह भी लिखा है कि झापड़ मारने वाले के सामने दूसरा गाल आगे करने से आजादी नहीं मिलती है।

पढ़ें :- Kangana Ranaut को मिल रही है जान से मारने की धमकी, दर्ज कराई FIR, बोलीं-गद्दारों को कभी माफ नहीं करना

कंगना ने बताया सत्ता का भूखा और चालाक

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के पिछले बयान पर बवाल अभी थमा नहीं इस बीच उन्होंने कुछ और आपत्तिजनक पोस्ट कर दिए हैं। कंगना ने लिखा है, जो लोग स्वतंत्रता (Freedom) के लिए लड़े उन्हें उन लोगों ने अपने मालिकों को सौंप दिया, जिनमें हिम्मत नहीं था न ही खून में उबाल। वे सत्ता के भूखे और चालाक थे….ये वही थे जिन्होंने हमें सिखाया अगर कोई तुम्हें थप्पड़ मारे तो उसके आगे एक और झापड़ के लिए दूसरा गाल कर दो और इस तरह तुमको आजादी मिल जाएगी। ऐसे किसी को आजादी नहीं मिलती सिर्फ भीख मिलती है। अपने हीरो समझदारी से चुनें।

लोगों को पता होना चाहिए इतिहास

पढ़ें :- Twitter CEO Jack Dorsey का इस्तीफा , तो कंगना रणौत बोलीं- बाय बाय चचा जैक...

कंगना ने दूसरे पोस्ट में लिखा है कि गांधी जी ने कभी भगत सिंह (Bhagat Singh) और नेताजी को सपोर्ट नहीं किया। कई सबूत हैं जो इशारा करते हैं कि गांधीजी चाहते थे कि भगत सिंह (Bhagat Singh) को फांसी हो जाए। इसलिए आपको चुनना है कि आप किसे सपोर्ट करते हैं। क्योंकि उन सबको अपनी याद के एक ही बॉक्स में रख लेना और उनकी जयंती पर याद कर लेना काफी नहीं सच कहें तो मूर्खता नहीं बल्कि गैरजिम्मेदाराना और सतही है। लोगों को अपना इतिहास और अपने हीरो पता होने चाहिए।

आजादी पर दिए बयान पर चल रहा बवाल

बीते दिनों एक न्यूज चैनल की सम्मिट में कंगना रनौत ने बयान दिया था कि देश को असली आजादी 2014 में मिली है। इससे पहले स्वाधीनता (Independence) गांधीजी को कटोरे में भीख में मिली थी। उन्होंने कांग्रेस को ब्रिटिश शासन के आगे का रूप बताया था।

पढ़ें :- Delhi Assembly Panel में Kangana के पेशन होने का समन जारी, सिख समाज को लेकर की थी अपमानजनक टिप्पणी
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...