कन्नौज हादसा: अखिलेश ने योगी सरकार को ठहराया जिम्मेदार, मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख मुआवजा देने की मांग

akhilesh yadav
मजदूरों के टिकट लेने पर भड़के अखिलेश- 'ये टिकट नहीं तो क्या फिरौती की है सरकारी रसीद'

लखनऊ। कन्नौज में शुक्रवार रात जीटी रोड पर बस और ट्रक की टक्कर हो गयी थी जिसमें करीबन 20 लोगों की मौत हो गयी थी। हालांकि घटना के तुरंत बाद यूपी सीएम योगी आदित्यानाथ ने मोके पर आलाधिकारियों को भेजा था और घायलो को 50-50 हजार व मृतकों के परिजनो को 2-2 लाख रूपये देने का ऐलान किया था। लेकिन अब हादसे पर भी सियासत शुरू हो गयी है। यूपी के पूर्व सीएम व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक्सीडेंट के लिए योगी सरकार को दोषी ठहराया है और मृतकों के परिजनो को 10-10 लाख मुआवजा दिये जाने की मांग की है।

Kannauj Accident Akhilesh Blames Yogi Government Demands Compensation Of 10 Lakh To Kin Of Deceased :


अखिलेश यादव ने फिरोजाबाद में पत्रकारों से बातचीत के दौरान हादसे में बस यात्रियों की मौत पर शोक जताते हुए कहा कि इस घटना के लिए सरकार दोषी है क्योंकि सरकार ने मानक से अधिक लम्बी बस को परमिट कैसे दे दिया? वहीं उन्होने कहा कि सपा सरकार में जो कन्नौज में फायर स्टेशन बन रहे थे, इस सरकार ने उन्हे भी रूकवा दिया। अखिलेश ने इस हादसे को लेकर ट्वीट भी किया जिसमें लिखा कि, ‘कन्नौज के अग्निकांड में मारे गये लोगों के प्रति श्रद्धांजलि व परिजनों के प्रति हार्दिक संवेदना। लोगों की जान बच भी सकती थी, अगर भाजपा सरकार संकीर्ण राजनीतिक सोच की वजह से सपा काल में बने फ़ायर स्टेशन को बंद नहीं करवाती, जो घटना स्थल से केवल 10 मिनट की दूरी पर बना था। दुखद!

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के कन्नौज में ​जीटी रोड स्थित छिबरामऊ के घिलोई गांव के पास शुक्रवार रात घने कोहरे के कारण डबल डेकर बस और ट्रक आपस में टकरा गये और इस दौरान बस में भीषण आग लग गई। बताया जा रहा है उस वक्त बस में 40 सवारियों से ज्यादा लोग मौजूद थे। जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि इस हादसे में 20 लोगों की मौत हो गई. वहीं, 21 लोग घायल हैं। कन्नौज के जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने बताया कि बस में उस वक्त करीब 43 लोग सवार थे. 21 लोग घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 26 यात्री गुरसहायगंज और 17 यात्री छिबरामऊ से सवार हुए थे।

लखनऊ। कन्नौज में शुक्रवार रात जीटी रोड पर बस और ट्रक की टक्कर हो गयी थी जिसमें करीबन 20 लोगों की मौत हो गयी थी। हालांकि घटना के तुरंत बाद यूपी सीएम योगी आदित्यानाथ ने मोके पर आलाधिकारियों को भेजा था और घायलो को 50-50 हजार व मृतकों के परिजनो को 2-2 लाख रूपये देने का ऐलान किया था। लेकिन अब हादसे पर भी सियासत शुरू हो गयी है। यूपी के पूर्व सीएम व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक्सीडेंट के लिए योगी सरकार को दोषी ठहराया है और मृतकों के परिजनो को 10-10 लाख मुआवजा दिये जाने की मांग की है। अखिलेश यादव ने फिरोजाबाद में पत्रकारों से बातचीत के दौरान हादसे में बस यात्रियों की मौत पर शोक जताते हुए कहा कि इस घटना के लिए सरकार दोषी है क्योंकि सरकार ने मानक से अधिक लम्बी बस को परमिट कैसे दे दिया? वहीं उन्होने कहा कि सपा सरकार में जो कन्नौज में फायर स्टेशन बन रहे थे, इस सरकार ने उन्हे भी रूकवा दिया। अखिलेश ने इस हादसे को लेकर ट्वीट भी किया जिसमें लिखा कि, 'कन्नौज के अग्निकांड में मारे गये लोगों के प्रति श्रद्धांजलि व परिजनों के प्रति हार्दिक संवेदना। लोगों की जान बच भी सकती थी, अगर भाजपा सरकार संकीर्ण राजनीतिक सोच की वजह से सपा काल में बने फ़ायर स्टेशन को बंद नहीं करवाती, जो घटना स्थल से केवल 10 मिनट की दूरी पर बना था। दुखद! आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के कन्नौज में ​जीटी रोड स्थित छिबरामऊ के घिलोई गांव के पास शुक्रवार रात घने कोहरे के कारण डबल डेकर बस और ट्रक आपस में टकरा गये और इस दौरान बस में भीषण आग लग गई। बताया जा रहा है उस वक्त बस में 40 सवारियों से ज्यादा लोग मौजूद थे। जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि इस हादसे में 20 लोगों की मौत हो गई. वहीं, 21 लोग घायल हैं। कन्नौज के जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने बताया कि बस में उस वक्त करीब 43 लोग सवार थे. 21 लोग घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 26 यात्री गुरसहायगंज और 17 यात्री छिबरामऊ से सवार हुए थे।