कन्नौज बस हादसा: योगी सरकार ने 5 ARTO को किया निलंबित, 2 पर FIR के आदेश

cm yogi
भ्रष्टाचार पर योगी सरकार सख्त, उन्नाव के DM देवेंद्र पांडेय सस्पेंड, 13 IAS के तबादले

लखनऊ। हाल ही में हुए कन्नौज बस हादसे में कई लोगों की मौत हो गयी थी और दर्जनो यात्री घायल हो गये थे। जिसके बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने जांच के आदेश दिये थे। जांच के दौरान जब कुछ खामिया नजर आयीं तो योगी सरकार ने बड़ा ऐक्शन लिया है। सरकार ने इस मामले में हुई लापरवाही को लेकर 5 एआरटीओ को निलंबित कर दिया है जबकि 2 के खिलाफ FIR के आदेश दिये हैं।

Kannauj Bus Accident Yogi Government Suspends 5 Arto Fir Orders On 2 :

आपको बता दें कन्नौज में बीते 12 जनवरी को डबल डेकर स्लीपर बस और ट्रक की जबरदस्त भिड़त हो गयी थी जिसके बाद में बस में आग लग गयी थी। इस दौरान आग की चपेट में आने से बस में बैठे 20 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं इस हादसे के बाद परिवहन विभाग की तरफ से बस के ड्राइवर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई। शुरुआती जांच के बाद एआरटीओ द्वारा ही बयान दिया गया था कि बस के सभी कागजात पूरे पाए गए हैं। यही नही यह भी बताया गया था कि गाड़ी की फिटनेस और बीमा भी वैध था।

इस मामले में प्रमुख सचिव परिवहन राजेश सिंह ने कार्य में लापरवाई बरतने और अनियमितता के आरोप में यूपी के पांच एआरटीओ को निलंबित कर दिया है। वहीं संजय झा एआरटीओ कन्नौज, एआरटीओ मोहम्मद हसीब वर्तमान तैनाती हमीरपुर, के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने का निर्देश भी दिया है। स्लीपर बस में आग लगने और कई यात्रियों की मौत की घटना को गम्भीरता से लेते हुए ये कार्रवाई की गई है।

लखनऊ। हाल ही में हुए कन्नौज बस हादसे में कई लोगों की मौत हो गयी थी और दर्जनो यात्री घायल हो गये थे। जिसके बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने जांच के आदेश दिये थे। जांच के दौरान जब कुछ खामिया नजर आयीं तो योगी सरकार ने बड़ा ऐक्शन लिया है। सरकार ने इस मामले में हुई लापरवाही को लेकर 5 एआरटीओ को निलंबित कर दिया है जबकि 2 के खिलाफ FIR के आदेश दिये हैं। आपको बता दें कन्नौज में बीते 12 जनवरी को डबल डेकर स्लीपर बस और ट्रक की जबरदस्त भिड़त हो गयी थी जिसके बाद में बस में आग लग गयी थी। इस दौरान आग की चपेट में आने से बस में बैठे 20 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं इस हादसे के बाद परिवहन विभाग की तरफ से बस के ड्राइवर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई। शुरुआती जांच के बाद एआरटीओ द्वारा ही बयान दिया गया था कि बस के सभी कागजात पूरे पाए गए हैं। यही नही यह भी बताया गया था कि गाड़ी की फिटनेस और बीमा भी वैध था। इस मामले में प्रमुख सचिव परिवहन राजेश सिंह ने कार्य में लापरवाई बरतने और अनियमितता के आरोप में यूपी के पांच एआरटीओ को निलंबित कर दिया है। वहीं संजय झा एआरटीओ कन्नौज, एआरटीओ मोहम्मद हसीब वर्तमान तैनाती हमीरपुर, के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने का निर्देश भी दिया है। स्लीपर बस में आग लगने और कई यात्रियों की मौत की घटना को गम्भीरता से लेते हुए ये कार्रवाई की गई है।