1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कानपुर : पुलिस टीम पर हमला कर भाजपा नेता व उसके समर्थक छुड़ा ले गए टॉप टेन हिस्ट्रीशीटर

कानपुर : पुलिस टीम पर हमला कर भाजपा नेता व उसके समर्थक छुड़ा ले गए टॉप टेन हिस्ट्रीशीटर

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में हिस्ट्रीशीटर की कमर तोड़ने के लिए पुलिस को खुली छूट दे रखी है, लेकिन बुधवार को कानपुर जिले में उनकी ही पार्टी के कार्यकर्ता सीएम के आदेशों की धज्जियां उड़ाते नजर आए।ताजा मामला है कानपुर के नौबस्ता थाना क्षेत्र के उस्मानपुर का है, जहां भाजपा दक्षिण जिला मंत्री नारायण सिंह भदौरिया की जन्मदिन पार्टी में हिस्ट्रीशीटर और हत्या के प्रयास में वांछित मनोज सिंह के शामिल होने की सूचना पर उसे पकडने पहुंची।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Kanpur Bjp Leader And His Supporters Attacked The Police Team And Rescued The History Sheeter

कानपुर। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में हिस्ट्रीशीटर की कमर तोड़ने के लिए पुलिस को खुली छूट दे रखी है, लेकिन बुधवार को कानपुर जिले में उनकी ही पार्टी के कार्यकर्ता सीएम के आदेशों की धज्जियां उड़ाते नजर आए।

पढ़ें :- सीएम योगी से तनातनी पर केशव प्रसाद मौर्य ने तोड़ी चुप्पी, दिया ये बड़ा बयान

ताजा मामला है कानपुर के नौबस्ता थाना क्षेत्र के उस्मानपुर का है, जहां भाजपा दक्षिण जिला मंत्री नारायण सिंह भदौरिया की जन्मदिन पार्टी में हिस्ट्रीशीटर और हत्या के प्रयास में वांछित टॉप टेन हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह के शामिल होने की सूचना पर उसे पकडने पहुंची। पुलिस से भाजपा नेता और उसके समर्थको में धक्का-मुक्की शुरू हो गई। सबसे बड़ी बात तो ये रही कि जब पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर को हिरासत में लेकर जीप में बैठा लिया, तो भाजपाईयों ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ा कर भगा दिया और पुलिस मुखदर्शक बनकर देखती रह गई।

पूरा घटना क्रम नौबस्ता थाना क्षेत्र के उस्मानपुर में भाजपा दक्षिण जिला मंत्री नारायण सिंह भदौरिया है, जिसका जन्मदिन एक निजी गेस्टहाउस में मनाया जा रहा था। जन्मदिन के कार्यक्रम में शहर के विभिन्न थानों में गंभीर धाराओं में वांछित अपराधी मनोज सिंह भी पहुंचा था। इसकी सूचना पुलिस को लगी थी। पुलिस की टीम भाजपा नेता के कार्यक्रम में पहुंची और वहां से हत्या के प्रयास में वांछित चल रहे हिस्ट्रीशीटर को गिरफ्तार का अपने साथ ले जाने लगी।

इसकी सूचना जैसे ही नारायण भदौरिया को लगी तो वह अपने सामर्थकों के साथ पहुंचा । इसके बाद पुलिस की जीप को चारों ओर से घेर लिया और हिस्ट्रीशीटर को छोड़ने की बात करने लगा। पुलिस ने जब उसे छोड़ने से मना कर दिया तो भाजपा नेता और उसके समर्थक भड़क गए और पुलिस से झड़प पर उतारू हो गए। इसी बीच कुछ ने जीप में बैठे हिस्ट्रीशीटर को कानून को ताक पर रखते हुए जीप से उतार कर हिस्ट्रीशीटर को भगा दिया। इस दौरान पुलिस भाजपा नेताओं के सामने पूरी तरह से बेबस नजर आई।

हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह पर हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, बलात्कार जैसी गंभीर धाराओ में मुकदमे दर्ज हैं। हिस्ट्रीशीटर को भगाने वाले भाजपा दक्षिण जिला मंत्री नारायण भदौरिया का भी आपराधिक इतिहास है। नारायण पर धारा 307,308 जैसी गंभीर मामलों में मुकदमे दर्ज हैं। इस पूरे घटना पर पुलिस अधिकारी एडीसीपी दक्षिण बसंतलाल ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर को पुलिस पकड़ने पहुची थी जिसे कुछ लोगों ने पुलिस की गिरफ्त से भगा दिया है। मामला संज्ञान में आया है। घटना करने वालों पर मुकदमा दर्ज कर टीम बनाकर लगा दी गई है। जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।

पढ़ें :- मथुरा में दुस्साहसिक वारदात: तीन युवकों ने किशोरी को दो मंजिल से नीचे फेंका, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X