सबसे गंदे स्टेशनों की लिस्ट में टॉप पर कानपुर सेंट्रल, पीएम मोदी का वाराणसी चौथे पायदान पर

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने इंटरेक्टिव वाइस रेस्पांस सिस्टम (आईवीआरएस) के माध्यम से एक सर्वे में देश के टॉप 10 गंदे स्टेशनों की लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट में उत्तर प्रदेश के चार स्टेशन शामिल हैं। टॉप 10 स्टेशनों में सबसे गंदा स्टेशन कानपुर शहर का है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र का वाराणसी स्टेशन इस लिस्ट में चौथे पायदान पर है, वहीं चारबाग नौवें नंबर पर है। सर्वे में इलाहाबाद स्टेशन को गंदगी के मामले में छठे नंबर पर रखा गया है।

Kanpur Central Railway Station Tops List Of Dirtiest In Country :

भारतीय रेलवे ने 11 मई से 17 मई के बीच यात्रियों से बातचीत के बाद ये आंकड़े जारी किए हैं। इसके लिए आईआरसीटीसी की वेबसाइट या फिर काउंटरों से बुक होने वाले टिकट पर सफर करने वाले यात्रियों के मोबाइल नंबर एकत्र किए गए। इन यात्रियों से अलग-अलग बात की गई। उसके आधार पर सर्वे रिपोर्ट तैयार की गई। सर्वे के मुताबिक, कानपुर सेंट्रल को सबसे ज्यादा 61.06 फीसदी यात्रियों ने गंदा स्टेशन बताया। इसके बाद पटना जंक्शन रहा, जिसे 60.16 फीसदी लोगों ने बेहद गंदा बताया।

आपको बता दें कि यह हाल तब है, जब इन स्टेशनों पर सालाना 20 करोड़ रुपए से अधिक की राशि साफ-सफाई पर खर्च होती है। यह रिपोर्ट सीधे-सीधे बता रही है कि किस तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान को पलीता लगाया जा रहा है।

इसके अलावा देश से दस सबसे गंदे रेलवे स्टेशनों में मुंबई के तीन रेलवे स्टेशन शामिल हैं। इसमें मुंबई का कल्याण तीसरा, लोकमान्य तिलक टर्मिनल पांचवा और ठाणे आठवां सबसे गंदा स्टेशन बताया गया है। ये है लिस्ट-

  • कानपुर सेंट्रल-01
  • पटना जंक्शन-02
  • कल्याण-03
  • वाराणसी जंक्शन-04
  • एलटीटी-05
  • इलाहाबाद-06
  • पुरानी दिल्ली-07
  • ठाणे-08
  • लखनऊ-09
  • चंडीगढ़-10
नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने इंटरेक्टिव वाइस रेस्पांस सिस्टम (आईवीआरएस) के माध्यम से एक सर्वे में देश के टॉप 10 गंदे स्टेशनों की लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट में उत्तर प्रदेश के चार स्टेशन शामिल हैं। टॉप 10 स्टेशनों में सबसे गंदा स्टेशन कानपुर शहर का है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र का वाराणसी स्टेशन इस लिस्ट में चौथे पायदान पर है, वहीं चारबाग नौवें नंबर पर है। सर्वे में इलाहाबाद स्टेशन को गंदगी के मामले में छठे नंबर पर रखा गया है। भारतीय रेलवे ने 11 मई से 17 मई के बीच यात्रियों से बातचीत के बाद ये आंकड़े जारी किए हैं। इसके लिए आईआरसीटीसी की वेबसाइट या फिर काउंटरों से बुक होने वाले टिकट पर सफर करने वाले यात्रियों के मोबाइल नंबर एकत्र किए गए। इन यात्रियों से अलग-अलग बात की गई। उसके आधार पर सर्वे रिपोर्ट तैयार की गई। सर्वे के मुताबिक, कानपुर सेंट्रल को सबसे ज्यादा 61.06 फीसदी यात्रियों ने गंदा स्टेशन बताया। इसके बाद पटना जंक्शन रहा, जिसे 60.16 फीसदी लोगों ने बेहद गंदा बताया। आपको बता दें कि यह हाल तब है, जब इन स्टेशनों पर सालाना 20 करोड़ रुपए से अधिक की राशि साफ-सफाई पर खर्च होती है। यह रिपोर्ट सीधे-सीधे बता रही है कि किस तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान को पलीता लगाया जा रहा है। इसके अलावा देश से दस सबसे गंदे रेलवे स्टेशनों में मुंबई के तीन रेलवे स्टेशन शामिल हैं। इसमें मुंबई का कल्याण तीसरा, लोकमान्य तिलक टर्मिनल पांचवा और ठाणे आठवां सबसे गंदा स्टेशन बताया गया है। ये है लिस्ट-
  • कानपुर सेंट्रल-01
  • पटना जंक्शन-02
  • कल्याण-03
  • वाराणसी जंक्शन-04
  • एलटीटी-05
  • इलाहाबाद-06
  • पुरानी दिल्ली-07
  • ठाणे-08
  • लखनऊ-09
  • चंडीगढ़-10