1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Manish Gupta Death Case की CBI जांच जरूरी, योगी के गृह जनपद में कानून-व्यवस्था की खुली पोल : मायावती

Manish Gupta Death Case की CBI जांच जरूरी, योगी के गृह जनपद में कानून-व्यवस्था की खुली पोल : मायावती

Manish Gupta Kanpur case : कानपुर के एक व्यापारी मनीष गुप्ता (Manish Gupta) की कथित तौर पर पुलिसकर्मियों की पिटाई से मौत की घटना का मामला तूल पकड़ता नजर आ रहा है। इस मामले में बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) की प्रमुख व यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Mayawati) ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि सीएम योगी के गृह जनपद गोरखपुर  पुलिस (Gorakhpur Police) द्वारा तीन व्यापारियों के साथ होटल में बर्बरता व उसमें से एक की मौत के प्रथम दृष्टया दोषी पुलिसवालों को बचाने के लिए मामले को दबाने का प्रयास घोर अनुचित है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। Manish Gupta Death Case : कानपुर के एक व्यापारी मनीष गुप्ता (Manish Gupta) की कथित तौर पर पुलिसकर्मियों की पिटाई से मौत की घटना का मामला तूल पकड़ता नजर आ रहा है। इस मामले में बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) की प्रमुख व यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Mayawati) ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि सीएम योगी के गृह जनपद गोरखपुर  पुलिस (Gorakhpur Police) द्वारा तीन व्यापारियों के साथ होटल में बर्बरता व उसमें से एक की मौत के प्रथम दृष्टया दोषी पुलिसवालों को बचाने के लिए मामले को दबाने का प्रयास घोर अनुचित है। घटना की गंभीरता व परिवार की व्यथा को देखते हुए मामले की सीबीआई जांच जरूरी है।

पढ़ें :- मायावती का हमला, कहा-सपा और BJP से बेहतर काम BSP सरकार में हुए

मायावती (Mayawati) ने कहा कि आरोपी पुलिसवालों के विरूद्ध पहले हत्या का मुकदमा दर्ज नहीं करना, किन्तु फिर जन आक्रोश के कारण मुकदमा दर्ज होने के बावजूद उन्हें गिरफ्तार नहीं करना सरकार की नीति व नीयत दोनों पर गंभीर प्रश्न खड़े करता है। सरकार पीड़िता को न्याय, उचित आर्थिक मदद व सरकारी नौकरी दे, बीएसपी की मांग है।

पढ़ें :- UP By-Elections : यूपी उपचुनाव में मायावती और कांग्रेस नहीं उतारेंगे उम्मीदवार

मायावती (Mayawati) ने कहा कि यूपी सीएम के गृह जनपद में  गोरखपुर  पुलिस (Gorakhpur Police) द्वारा होटल में रात्रि रेड करके तीन व्यापारियों के साथ बर्बर व्यवहार व उसमें से एक की मौत अति-दुःखद व शर्मनाक घटना, जो राज्य में भाजपा सरकार के कानून-व्यवस्था के दावों की पोल खोलता है। वास्तव में ऐसी घटनाओं से पूरा प्रदेश पीड़ित है।

राज्य सरकार से पीड़ित परिवार को हर स्तर पर समुचित न्याय देने के साथ-साथ ऐसी अन्य जघन्य घटनाओं को भी अति-गंभीरता से लेकर इनकी पुनरावृति को रोकना सुनिश्चित करने के लिए प्रभावी उपाय करने की बीएसपी की मांग है।

पढ़ें :- हिमाचल प्रदेश में शनिवार को होगा विधानसभा की 68 सीटो पर मतदान, जानिये कितने प्रत्याशी आजामा रहे किस्मत

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...