सफाई कर्मी परीक्षा: स्नातक पास युवक भी झाड़ू लगाते नजर आये

कानपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश ने युवाओ को रोजगार दिलाने के लिए स्टार्ट उप, मेक इन इंडिया जैसी कई योजनायें शुरू कर दी लेकिन आज भी बेरोजगारी का आलम यह है कि स्नातक और परास्नातक पास बेरोजगार युवक सफाई कर्मी की नौकरी पाने की होड़ में हैं।

कानपुर में आज शहर के युवाओ के हाथ में झाड़ू और फावड़ा नजर आया। कोई झाड़ू लगाता दिखा तो कोई कूड़ा उठता। दरअसल, 3275 संविदा सफाई कर्मियों की भर्ती प्रक्रिया आज से कानपुर में शुरू हो गयी। सबसे पहले अभ्यर्थियों ने प्रैक्टिकल दिया जिसमे उनसे सफाई कराई गई। इसके बाद उनका साक्षात्कार हुआ।




खास बात यह है कि बेरोजगारी की वजह से सफाई कर्मियों की इस भर्ती ऐसे भी छात्र शामिल हुए है जो स्नातक और परास्नातक पास कर चुके है । इस भर्ती में उच्च वर्ग के युवा भी शामिल हुए जिन्हें सफाई कर्मी बनने से कोई परहेज नही है।




अभ्यर्थियों का कहना है कि स्नातक पास करने के बाद भी नौकरी नही मिली परिवार पालने के लिए एक नौकरी जरूरी है, हमें यही सही लगा तो यही कर रहा हूँ। वंही एक अभ्यर्थी विवेक त्रिवेदी का कहना है उन्होंने बीएससी किया उसके बाद कंप्यूटर कोर्स कर रहे है। सरकारी नौकरी चाहिए बस। सैलरी अच्छी है और काम कोई छोटा नही होता।