कानपुर शेल्‍टर होम मामला: आप सांसद संजय सिंह बोले-हैरान करने वाली है बेशर्म प्रशासन की दलील

sanjay singh
कानपुर शेल्‍टर होम मामला: आप सांसद संजय सिंह बोले-हैरान करने वाली है बेशर्म प्रशासन की दलील

कानपुर। कानपुर के शेल्टर होम में हैरान करने वाला मामला सामने आया है। वहां पर 7 लड़कियां के गर्भवती मिलने के बाद प्रशासन और सरकार पर सवाल उठने लगे हैं। विपक्ष इस मुद्दे को लेकर योगी सरकार को घेरने में जुटा हुआ है। वहीं, इस बीच आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने प्रदेश की योगी सरकार पर सवाल खड़े किए हैं।

Kanpur Shelter Home Case Aap Mp Sanjay Singh Said Shameless Administrations Argument :

उन्होंने ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि, ‘कानपुर की ये घटना उत्तर प्रदेश के बाल संरक्षण गृह में हो रहे घिनौने अपराधों का सच उजागर करती है। सात लड़कियां गर्भवती पाई गयीं हैं, जबकि 57 कोरोना संक्रमित पायी गयी हैं। ऐसे गंभीर मामला में यूपी सरकार खामोश क्यों हैं।’

दूसरे ट्वीट में संजय सिंह ने लिखा है कि, ‘योगी के बेशर्म प्रशासन की दलील सुनकर आप हैरान हो जायेंगे। प्रशासन कह रहा है, ‘बाल गृह में गर्भवती लड़ककियां दूसरे जिलों से आईं थीं, इसका मतलब यूपी में 7 नबालिग बच्चियों का रेप हुआ है। उन मामलों में क्या कार्रवाई हुई योगी जी बताओ।’

इसके साथ ही कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा कि कानपुर के बाल संरक्षण गृह में बच्चियों का गर्भवती पाया जाना और एक के एड्स का शिकार होने की घटना बेहद गंभीर है। इस पूरे घटना की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। कहते हैं बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ और बाल संरक्षण गृह में जहां पूरी उम्मीद के साथ सुरक्षा के लिए बच्चियों को भेजा जाता है वहां पर यह धंधा चल रहा है? पुनिया ने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बहुत ही वाजिब सवाल पूछे हैं उनका जवाब मिलना चाहिए और जांच होनी चाहिए।

 

कानपुर। कानपुर के शेल्टर होम में हैरान करने वाला मामला सामने आया है। वहां पर 7 लड़कियां के गर्भवती मिलने के बाद प्रशासन और सरकार पर सवाल उठने लगे हैं। विपक्ष इस मुद्दे को लेकर योगी सरकार को घेरने में जुटा हुआ है। वहीं, इस बीच आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने प्रदेश की योगी सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि, 'कानपुर की ये घटना उत्तर प्रदेश के बाल संरक्षण गृह में हो रहे घिनौने अपराधों का सच उजागर करती है। सात लड़कियां गर्भवती पाई गयीं हैं, जबकि 57 कोरोना संक्रमित पायी गयी हैं। ऐसे गंभीर मामला में यूपी सरकार खामोश क्यों हैं।' दूसरे ट्वीट में संजय सिंह ने लिखा है कि, 'योगी के बेशर्म प्रशासन की दलील सुनकर आप हैरान हो जायेंगे। प्रशासन कह रहा है, 'बाल गृह में गर्भवती लड़ककियां दूसरे जिलों से आईं थीं, इसका मतलब यूपी में 7 नबालिग बच्चियों का रेप हुआ है। उन मामलों में क्या कार्रवाई हुई योगी जी बताओ।' इसके साथ ही कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा कि कानपुर के बाल संरक्षण गृह में बच्चियों का गर्भवती पाया जाना और एक के एड्स का शिकार होने की घटना बेहद गंभीर है। इस पूरे घटना की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। कहते हैं बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ और बाल संरक्षण गृह में जहां पूरी उम्मीद के साथ सुरक्षा के लिए बच्चियों को भेजा जाता है वहां पर यह धंधा चल रहा है? पुनिया ने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बहुत ही वाजिब सवाल पूछे हैं उनका जवाब मिलना चाहिए और जांच होनी चाहिए।