1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. कासगंज में बनेगा चंदन चौक, परिवार में एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरी

कासगंज में बनेगा चंदन चौक, परिवार में एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरी

By रवि तिवारी 
Updated Date

लखनऊ। पुलिस लाइन में आयोजित हुई गणतंत्र दिवस की परेड कार्यक्रम में गत 26 जनवरी को तिरंगा यात्रा के विवाद में मौत का शिकार हुए अभिषेक गुप्ता उर्फ चंदन के परिवार को सम्मानित किया गया। चन्दन के नाम से एक चौक का नाम रखा जायेगा। साथ ही प्रशासन ने चंदन के परिवार में किसी एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का भी ऐलान किया है।

इस दौरान प्रभारी मंत्री एवं जिलाधिकारी ने चंदन के परिवार की मांग को देखते हुए चंदन चौक की स्थापना के बारे में घोषणा की। प्रभारी मंत्री ने कहा कि चंदन चौक के संबंध में एक समिति गठित की जाएगी। यह समिति तय करेगी कि चंदन चौक कहां बनाया जाए। पिता सुशील गुप्ता एवं भाई विवेक गुप्ता ने प्रभारी मंत्री और प्रशासन की घोषणा पर संतोष जताया है।

कासगंज एसपी अशोक कुमार के मुताबिक करीब 85 पॉइंट को चिन्‍ह‍ित कर पुलिस बल की तैनाती की गई है। पीएसी की दो कंपनी और एक आरएएफ की कंपनी शामिल है। करीब 250 जवानों का फोर्स बाहर के जनपदों से बुलाया गया है। इससे पहले मृतक चंदन के पिता ने प्रशासन से तिरंगा यात्रा निकालने की इजाजत मांगी थी, लेकिन हालात बिगड़ने के अंदेशे में प्रशासन ने इजाजत देने से इनकार कर दिया। मृतक के परिजनों को पुलिस ग्राउंड में ही तिरंगा फहराने के लिए राजी कर लिया गया।

इस मामले में पुलिस ने 8 मुकदमे दर्ज कर 40 आरोपियों की गिरफ्तारी की थी। कुल 121 से ज्‍यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया था। साथ ही पुलिस ने एक डीबीबीएल बंदूक, दो कारतूस, एक एसबीबीएल देशी, 4 कारतूस और 8 खोखा कारतूस बरामद किए थे।

तिरंगा यात्रा के लिए सुबह निकला, फिर वापस नहीं लौटा

चंदन की बहन कीर्ति आज भी उस घटना का जिक्र करते हुए बताती हैं, ‘भाई (चंदन) 25 जनवरी 2018 को एक दोस्त की बाइक लेकर घर आया था। उसमें झंडा वगैरह लगा दिया था। अगले दिन सुबह (26 जनवरी 2018) जल्दी उठकर घर से चला गया था। प्रभु पार्क में झंडारोहण हुआ। इसके बाद वे बाइक से तिरंगा यात्रा के लिए निकले, जिसके बाद चंदन वापस घर नहीं लौटा।’

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...