आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा की सदस्यता रद्द

kapil mishra
दिल्ली विधानसभा चुनाव: विवादित बयान पर बोले कपिल मिश्रा- मैंने सच बोला है, कानून नहीं तोड़ा

नई दिल्ली। विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने करावल नगर से आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा को आयोग्य घोषित कर दिया है. उधर, कपिल ने इस फैसले पर कहा कि उन्हें पीएम मोदी का सपॉर्ट करने पर हटाया गया, और उनके लिए वह हजार बार विधायक की कुर्सी छोड़ने को तैयार हैं।

Kapil Mishra Aap Mla From Delhis Karawal Nagar Disqualified From Legislative Assembly :

आप के विधायक सौरभ भारद्वाज ने कपिल मिश्रा के खिलाफ याचिका लगाई थी। इससे पहले, 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान कपिल मिश्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में प्रचार किया था। गौरतलब है कि दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे कपिल मिश्रा लगातार दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल के खिलाफ मोर्चा खोले हुए थे और उनके ऊपर कई तरह की अनियमितताओं के आरोप लगाए थे।

इस संबंध में कपिल मिश्रा की भी त्वरित प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘विधानसभा अध्यक्ष ने मुझसे कहा- केजरीवाल का ऑर्डर है, ‘कपिल मिश्रा ने मोदी के लिए अभियान चलाया है, एमएलए तो इसे रहने नहीं देंगे। सदस्यता खत्म करनी होगी। साथियों मुझे गर्व है कि मैने मोदी जी के लिए अभियान चलाया। विधायक की कुर्सी हजार बार कुर्बान।’

जल संसाधन मंत्री के पद से हटाए गए कपिल मिश्रा ने सीएम अरविंद केजरीवाल और मंत्री सत्येंद्र जैन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। इसके अगले ही दिन आप ने उन्हें निलंबित कर दिया था। उसके बाद से वह सार्वजनिक मंचों पर पीएम मोदी के मुखर समर्थक के रूप में नजर आते हैं।

नई दिल्ली। विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने करावल नगर से आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा को आयोग्य घोषित कर दिया है. उधर, कपिल ने इस फैसले पर कहा कि उन्हें पीएम मोदी का सपॉर्ट करने पर हटाया गया, और उनके लिए वह हजार बार विधायक की कुर्सी छोड़ने को तैयार हैं। आप के विधायक सौरभ भारद्वाज ने कपिल मिश्रा के खिलाफ याचिका लगाई थी। इससे पहले, 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान कपिल मिश्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में प्रचार किया था। गौरतलब है कि दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे कपिल मिश्रा लगातार दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल के खिलाफ मोर्चा खोले हुए थे और उनके ऊपर कई तरह की अनियमितताओं के आरोप लगाए थे। इस संबंध में कपिल मिश्रा की भी त्वरित प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने ट्वीट किया, 'विधानसभा अध्यक्ष ने मुझसे कहा- केजरीवाल का ऑर्डर है, 'कपिल मिश्रा ने मोदी के लिए अभियान चलाया है, एमएलए तो इसे रहने नहीं देंगे। सदस्यता खत्म करनी होगी। साथियों मुझे गर्व है कि मैने मोदी जी के लिए अभियान चलाया। विधायक की कुर्सी हजार बार कुर्बान।' जल संसाधन मंत्री के पद से हटाए गए कपिल मिश्रा ने सीएम अरविंद केजरीवाल और मंत्री सत्येंद्र जैन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। इसके अगले ही दिन आप ने उन्हें निलंबित कर दिया था। उसके बाद से वह सार्वजनिक मंचों पर पीएम मोदी के मुखर समर्थक के रूप में नजर आते हैं।