पिटाई के बाद राजघाट पहुंचे कपिल मिश्रा, बोले हमने भगत सिंह को भी पढ़ा

कपिल मिश्रा

नई दिल्ली। दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल सरकार के बागी पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा बुधवार को विधान सभा में पिटने के बाद गुरुवार को राजघाट पहुंचे। जहां गांधी समाधि स्थल के दर्शन के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए मिश्रा ने कहा कि वह राजघाट इसलिए आए हैं क्योंकि वह बापू से शक्ति प्राप्त करते हैं। वह अहिंसा के रास्ते पर चल कर अपनी लड़ाई जीतना चाहते हैं लेकिन उन्होंने भगत सिंह को भी पढ़ा है।




इसके बाद कपिल मिश्रा ने दिल्ली पीडब्लूडी घोटाला खोलने वाले आरटीआई कार्यकर्ता राहुल शर्मा पर हुए जानलेवा हमले का जिक्र करते हुए कहा कि अब अरविन्द केजरीवाल हिंसा का सहारा ले रहे हैं। राहुल शर्मा पर गोली चलवाई गई। यह तो प्रभू की रही कि वह बच गए।

​कपिल मिश्रा ने बधुवार को अपने साथ विधानसभा में हुई हाथापाई की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने विधान सभा सत्र के लिए स्पीकर को पत्र लिखकर दिल्ली सरकार के भ्रष्टाचार पर चर्चा करवाने और उन्हें बालेने का समय देने की मांग की थी। लेकिन जब उन्हें समय नहीं मिला तो उन्होंने पोस्टर दिखाने का कद उठाया। जिसके बाद डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के इशारे पर आम आदमी पार्टी के विधायकों के एक गुट ने उनके साथ मारपीट की।




उन्होंने कहा कि उनके साथ विधानसभा में हुई हाथापाई में उन्हें कई चोटें आईं हैं। लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि वह अपनी लड़ाई रोक देंगे। आज कल ऐसा माहौल बनाया जा रहा है कि जो भी अरिवन्द केजरीवाल, उनके मंत्रियों और रिश्तेदारों से जुड़े भ्रष्टाचार को उजागर करने की कोशिश करेगा उसे डराया धमकाया जाएगा, उसे पीटा जाएगा और जानलेवा हमले किए जाएगें। ऐसा करने से वह अपनी लड़ाई को रोकेंगे नहीं बल्कि और मजबूती से लड़ेंगे।