राजस्थान पर चिंतित हैं कपिल सिब्बल, कहा-हम तभी जागेंगे जब घोड़े हमारे अस्तबल से भाग जाएंगे

kapil sibal
राजस्थान पर चिंतित हैं कपिल सिब्बल, कहा-हम तभी जागेंगे जब घोड़े हमारे अस्तबल से भाग जाएंगे

नई दिल्ली। राजस्थान में सियासी उठापटक जारी है। इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने इसको लेकर चिंता जताई है। उन्होंने इसको लेकर एक ट्वीट ​भी किया है। जिसमें उन्होंने लिखा है कि, क्या हम तभी जागेंगे जब घोड़े हमारे अस्तबल से भाग जाएंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सीएम अशोक गहलोत से डिप्टी सीएम सचिन पायलट नाराज चल रहे हैं। इसको लेकर ​सचिन पायलट आज दिल्ली पहुंचे।

Kapil Sibal Is Worried About Rajasthan Said We Will Wake Up Only When The Horses Run Away From Our Stables :

उनके साथ करीब दो दर्जन विधायक के होने की बात कही जा रही है। वहीं, इससे पहले सीएम अशोक गहलोत ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वह सरकार को अस्थिर करने की कोशिश में जुटी है और विधायकों की खरीद फरोख्त में जुटी है। विपक्षी पार्टी और उसकी सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) द्वारा इससे इनकार किया है। उन्होंने दावा किया है कि कांग्रेस के अंदर कलह है।

उन्होंने गहलोत पर अपने ही विधायकों पर भरोसा न करने का भी आरोप लगाया। भाजपा ने राजस्थान में कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने प्रयास से इनकार किया है। भाजपा ने गहलोत से कहा था कि वह उसके खिलाफ लगाए गए विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोप को साबित करें या राजनीति छोड़े।

राजस्थान भाजपा के अध्यक्ष सतीश पुनिया ने कहा, ‘मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपनी सरकार की विफलता के लिए भाजपा को दोष देने की कोशिश कर रहे हैं। आरोप पूरी तरह से निराधार हैं। उनके पास संख्या है तो सरकार को गिराने की कोशिश कौन करेगा?’ बता दें कि स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) ने शनिवार को विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट का बयान दर्ज करने के लिए नोटिस जारी किया।

 

नई दिल्ली। राजस्थान में सियासी उठापटक जारी है। इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने इसको लेकर चिंता जताई है। उन्होंने इसको लेकर एक ट्वीट ​भी किया है। जिसमें उन्होंने लिखा है कि, क्या हम तभी जागेंगे जब घोड़े हमारे अस्तबल से भाग जाएंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सीएम अशोक गहलोत से डिप्टी सीएम सचिन पायलट नाराज चल रहे हैं। इसको लेकर ​सचिन पायलट आज दिल्ली पहुंचे। उनके साथ करीब दो दर्जन विधायक के होने की बात कही जा रही है। वहीं, इससे पहले सीएम अशोक गहलोत ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वह सरकार को अस्थिर करने की कोशिश में जुटी है और विधायकों की खरीद फरोख्त में जुटी है। विपक्षी पार्टी और उसकी सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) द्वारा इससे इनकार किया है। उन्होंने दावा किया है कि कांग्रेस के अंदर कलह है। उन्होंने गहलोत पर अपने ही विधायकों पर भरोसा न करने का भी आरोप लगाया। भाजपा ने राजस्थान में कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने प्रयास से इनकार किया है। भाजपा ने गहलोत से कहा था कि वह उसके खिलाफ लगाए गए विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोप को साबित करें या राजनीति छोड़े। राजस्थान भाजपा के अध्यक्ष सतीश पुनिया ने कहा, 'मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपनी सरकार की विफलता के लिए भाजपा को दोष देने की कोशिश कर रहे हैं। आरोप पूरी तरह से निराधार हैं। उनके पास संख्या है तो सरकार को गिराने की कोशिश कौन करेगा?' बता दें कि स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) ने शनिवार को विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट का बयान दर्ज करने के लिए नोटिस जारी किया।