Karnataka Assembly Election 2018 : इन 26 सीटों पर कमल खिला पाएगी BJP?

BJP,
राहुल गांधी पर भाजपा का वार, पूछा परिवार का हक छीनने वाले कैसे देंगे जनता का हक

मैसूर: कर्नाटक विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बीजेपी और कांग्रेस जीत के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती है. इस चुनाव में बीजेपी की नजर उन जगहों पर ज्यादा मेहनत करने की है, जहां से पिछले चुनाव में पार्टी ने एक भी सीट हासिल नहीं की थी.

Karnataka Assembly Polls 2018 Amit Shah To Visit Old Mysore To Win 26 Seats :

कर्नाटक विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आज यानी शुक्रवार से पुराने मैसूर क्षेत्र का दौरा करेंगे, जहां पिछले चुनाव में उनकी पार्टी एक सीट भी नहीं जीत सकी थी.

अपनी ‘कर्नाटक जागृति यात्रा’ के तहत शाह 30 और 31 मार्च को मैसूर, चामराजनगर, मांड्या और रामानागर जिलों का दौरा करेंगे. इन चार जिलों में कुल 26 विधानसभा सीटें आती हैं. भाजपा 2013 के विधानसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं जीत पाई थी.

पूर्व मुख्यमंत्री और राज्य जदएस प्रमुख एचडी कुमारस्वामी और वरिष्ठ मंत्री डी के शिवकुमार का इस क्षेत्र में काफी असर माना जाता है. दूसरी तरफ, राज परिवार के उत्तराधिकारी यदुवीर कृष्णदत्ता चामराज वाडियार ने राजनीति में आने की अटकलों को खारिज किया है. उन्होंने कहा कि उन्हें शाह की राज परिवार की मुलाकात के बारे में मीडिया से पता चला.

उन्होंने कहा, ‘मुझे यह सूचना मीडिया से मिली है. मैं इस बारे में कुछ नहीं कह सकता. मैं कई बार कह चुका हूं कि राजनीति में मेरी कोई दिलचस्पी नहीं है. किसी पार्टी में शामिल होने की कोई संभावना नहीं है.’

अमित शाह इस क्षेत्र में लिंगायत समुदाय के प्रमुख धार्मिक स्थल सुत्तूर मठ का भी दौरा करेंगे. वह गणपति सच्चिानंद आश्रम भी जाएंगे. हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस क्षेत्र का दो दिनों के लिए दौरा किया था. मुख्यमंत्री सिद्धरमैया भी दो अप्रैल तक मैसूरू में चुनाव प्रचार करेंगे.

मैसूर: कर्नाटक विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बीजेपी और कांग्रेस जीत के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती है. इस चुनाव में बीजेपी की नजर उन जगहों पर ज्यादा मेहनत करने की है, जहां से पिछले चुनाव में पार्टी ने एक भी सीट हासिल नहीं की थी.कर्नाटक विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आज यानी शुक्रवार से पुराने मैसूर क्षेत्र का दौरा करेंगे, जहां पिछले चुनाव में उनकी पार्टी एक सीट भी नहीं जीत सकी थी.अपनी ‘कर्नाटक जागृति यात्रा’ के तहत शाह 30 और 31 मार्च को मैसूर, चामराजनगर, मांड्या और रामानागर जिलों का दौरा करेंगे. इन चार जिलों में कुल 26 विधानसभा सीटें आती हैं. भाजपा 2013 के विधानसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं जीत पाई थी.पूर्व मुख्यमंत्री और राज्य जदएस प्रमुख एचडी कुमारस्वामी और वरिष्ठ मंत्री डी के शिवकुमार का इस क्षेत्र में काफी असर माना जाता है. दूसरी तरफ, राज परिवार के उत्तराधिकारी यदुवीर कृष्णदत्ता चामराज वाडियार ने राजनीति में आने की अटकलों को खारिज किया है. उन्होंने कहा कि उन्हें शाह की राज परिवार की मुलाकात के बारे में मीडिया से पता चला.उन्होंने कहा, ‘मुझे यह सूचना मीडिया से मिली है. मैं इस बारे में कुछ नहीं कह सकता. मैं कई बार कह चुका हूं कि राजनीति में मेरी कोई दिलचस्पी नहीं है. किसी पार्टी में शामिल होने की कोई संभावना नहीं है.’अमित शाह इस क्षेत्र में लिंगायत समुदाय के प्रमुख धार्मिक स्थल सुत्तूर मठ का भी दौरा करेंगे. वह गणपति सच्चिानंद आश्रम भी जाएंगे. हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस क्षेत्र का दो दिनों के लिए दौरा किया था. मुख्यमंत्री सिद्धरमैया भी दो अप्रैल तक मैसूरू में चुनाव प्रचार करेंगे.