कर्नाटक : बीएस येदियुरप्पा ने विधानसभा में साबित किया बहुमत, विपक्ष ने नहीं की मत विभाजन की मांग

BS yeddyurappa
कर्नाटक:येदियुरप्पा सरकार की कैबिनेट का विस्तार, 10 विधायकों ने ली मंत्री पद की शपथ

नई दिल्ली। कर्नाटक में चल रही राजनीतिक उठापटक के बीच आज बीएस येदियुरप्पा सरकार ने विधानसभा में बहुमत साबित कर दिया है। इस दौरान विपक्ष ने मत विभाजन की भी मांग नहीं की। सरकार के बहुमत परीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि वो हर मिनट राज्य के विकास के लिए काम करेंगे।

Karnataka Bs Yeddyurappa Proves Majority In Assembly :

विधानसभा में बहुमत साबित करने के बाद कर्नाटक के सीएम येदियुरप्पा ने कहा कि प्रदेश में सूखा पड़ा है। मैं किसानों को संबोधित करना चाहता हूं। मैंने राज्य की ओर से पीएम किसान योजना के तहत लाभार्थियों को 2000 रुपये की 2 किस्तें देने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि, मैं विपक्ष से अपील करता हूं कि सभी को मिलकर काम करना चाहिए।

मैं सदन में अपील करता हूं कि वे मुझे पर विश्वास व्य​क्त करें। वहीं, सिद्धारमैया ने सरकार को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मैं उन परिस्थितियों के बारे में बोल सकता था जिसके तहत येदियुरप्पा सीएम बने। मैं उनके अच्छे भविष्य की कामना करता हूं और उनके इस आश्वासन का स्वागत करता हूं कि वह लोगों के लिए काम करेंगे।

नई दिल्ली। कर्नाटक में चल रही राजनीतिक उठापटक के बीच आज बीएस येदियुरप्पा सरकार ने विधानसभा में बहुमत साबित कर दिया है। इस दौरान विपक्ष ने मत विभाजन की भी मांग नहीं की। सरकार के बहुमत परीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि वो हर मिनट राज्य के विकास के लिए काम करेंगे। विधानसभा में बहुमत साबित करने के बाद कर्नाटक के सीएम येदियुरप्पा ने कहा कि प्रदेश में सूखा पड़ा है। मैं किसानों को संबोधित करना चाहता हूं। मैंने राज्य की ओर से पीएम किसान योजना के तहत लाभार्थियों को 2000 रुपये की 2 किस्तें देने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि, मैं विपक्ष से अपील करता हूं कि सभी को मिलकर काम करना चाहिए। मैं सदन में अपील करता हूं कि वे मुझे पर विश्वास व्य​क्त करें। वहीं, सिद्धारमैया ने सरकार को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मैं उन परिस्थितियों के बारे में बोल सकता था जिसके तहत येदियुरप्पा सीएम बने। मैं उनके अच्छे भविष्य की कामना करता हूं और उनके इस आश्वासन का स्वागत करता हूं कि वह लोगों के लिए काम करेंगे।