कर्नाटक उपचुनाव: कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने कहा,जनता ने दलबदलुओं पर भरोसा किया, हमने हार स्वीकार कर ली

DK Shivkumar
कर्नाटक उपचुनाव: कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने कहा,जनता ने दलबदलुओं पर भरोसा किया, हमने हार स्वीकार कर ली

नई दिल्ली। कांग्रेस के दिग्गज नेता डीके शिवकुमार ने कर्नाटक उपचुनाव के नतीजों पर कहा कि हमने 15 सीटों पर हुए विधानसभा उपचुनाव में मतदाताओं के जनादेश को मान लिया है। लोगों ने दलबदलुओं पर पूरा भरोसा जताया है। लिहाजा हम अपनी हार स्वीकार करते हैं। मुझे नहीं लगता कि हमें निराश होना पड़ेगा। आपको बता दें कि 15 सीटों के उपचुनाव के रुझानों में बीजेपी 12 सीटों पर बड़े अंतर से आगे चल रही है।

Karnataka By Election Congress Leader Dk Shivakumar Said The Public Trusted The Defectors We Accepted Defeat :

कनार्टक के 15 विधानसभा सीटों पर 5 दिसंबर को हुए उपचुनाव के लिए वोटों की गिनती जारी है। शुरुआती रुझानों में 12 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है। उपचुनाव के नतीजे कर्नाटक में चार महीने पुरानी भारतीय जनता पार्टी की येदियुरप्पा सरकार के लिए अतिमहत्वपूर्ण हैं। सत्तारूढ़ दल को कम से कम सात सीटों पर जीत की जरूरत है, ताकि उसके पास 223 सदस्यीय विधानसभा में कम से कम साधारण बहुमत 112 हो सके। आज 15 सीटों पर चुनाव के नतीजे चार महीने पुरानी बीएस येदियुरप्पा सरकार का भाग्य तय करेंगे, क्योंकि सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के पास बहुमत की कमी है।

भाजपा को कम से कम सात सीटें जीतनी होगी, जिससे सदन में उसका बहुमत बरकरार रहे। भाजपा के पास वर्तमान में 105 विधायक है, जिसमें एक निर्दलीय विधायक भी शामिल है। कांग्रेस की आंख भी नतीजों पर टिकी है, क्योंकि इसके नेता जनता दल-सेक्युलर (जद-सेक्युलर) के साथ फिर से गठजोड़ का संकेत दे रहे हैं।

कांग्रेस नेता बी.के.हरिप्रसाद ने कहा कि नतीजों से बहुत सी चीजें बदल जाएंगी। येदियुरप्पा के सत्ता में आने से पहले कांग्रेस-जद (सेक्युलर) की सरकार कांग्रेस के 14 व जद-सेक्युलर के तीन विधायकों के इस्तीफे से गिर गई थी। सभी बागी विधायकों को पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने अयोग्य करार दे दिया। अब 15 सीटों पर उपचुनाव कराए गए हैं। दो सीटों के लिए हाईकोर्ट में मुकदमा चल रहा है।

नई दिल्ली। कांग्रेस के दिग्गज नेता डीके शिवकुमार ने कर्नाटक उपचुनाव के नतीजों पर कहा कि हमने 15 सीटों पर हुए विधानसभा उपचुनाव में मतदाताओं के जनादेश को मान लिया है। लोगों ने दलबदलुओं पर पूरा भरोसा जताया है। लिहाजा हम अपनी हार स्वीकार करते हैं। मुझे नहीं लगता कि हमें निराश होना पड़ेगा। आपको बता दें कि 15 सीटों के उपचुनाव के रुझानों में बीजेपी 12 सीटों पर बड़े अंतर से आगे चल रही है। कनार्टक के 15 विधानसभा सीटों पर 5 दिसंबर को हुए उपचुनाव के लिए वोटों की गिनती जारी है। शुरुआती रुझानों में 12 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है। उपचुनाव के नतीजे कर्नाटक में चार महीने पुरानी भारतीय जनता पार्टी की येदियुरप्पा सरकार के लिए अतिमहत्वपूर्ण हैं। सत्तारूढ़ दल को कम से कम सात सीटों पर जीत की जरूरत है, ताकि उसके पास 223 सदस्यीय विधानसभा में कम से कम साधारण बहुमत 112 हो सके। आज 15 सीटों पर चुनाव के नतीजे चार महीने पुरानी बीएस येदियुरप्पा सरकार का भाग्य तय करेंगे, क्योंकि सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के पास बहुमत की कमी है। भाजपा को कम से कम सात सीटें जीतनी होगी, जिससे सदन में उसका बहुमत बरकरार रहे। भाजपा के पास वर्तमान में 105 विधायक है, जिसमें एक निर्दलीय विधायक भी शामिल है। कांग्रेस की आंख भी नतीजों पर टिकी है, क्योंकि इसके नेता जनता दल-सेक्युलर (जद-सेक्युलर) के साथ फिर से गठजोड़ का संकेत दे रहे हैं। कांग्रेस नेता बी.के.हरिप्रसाद ने कहा कि नतीजों से बहुत सी चीजें बदल जाएंगी। येदियुरप्पा के सत्ता में आने से पहले कांग्रेस-जद (सेक्युलर) की सरकार कांग्रेस के 14 व जद-सेक्युलर के तीन विधायकों के इस्तीफे से गिर गई थी। सभी बागी विधायकों को पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने अयोग्य करार दे दिया। अब 15 सीटों पर उपचुनाव कराए गए हैं। दो सीटों के लिए हाईकोर्ट में मुकदमा चल रहा है।