कांग्रेस-JDS सरकार गिरी, विश्वासमत के खिलाफ 105 वोट

swami
कांग्रेस-JDS सरकार गिरी, विश्वासमत के खिलाफ 105 वोट

कर्नाटक। कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी द्वारा पेश विश्वास प्रस्ताव पर तीन दिन तक चर्चा के बाद आज मंगलवार को विश्वासमत देर शाम पेश किया, जिसके बाद कर्नाटक में कांग्रेस-JDS की सरकार गिर गई है।

Karnataka Floor Test Voting Hd Kumaraswamy Bjp Jds Congress Bjp 105 Vote :

इस बीच कांग्रेस के हाथ से एक और राज्य चला गया है। पार्टी को बड़ा झटका लगा है। विधानसभा में विश्वास मत के पक्ष 99 वोट पड़े और विरोध में 105 वोट डाले गए हैं। वहीं, सरकार के गिरने के बाद भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा विजयी चिन्ह दिखाते हुए प्रसन्न मुद्रा में दिखे। वहीं, कांग्रेस-जेडीएस के खेमे में मायूसी दिखाई दे रही थी।

विधानसभा अध्यक्ष ने कांग्रेस के 12 बागी विधायकों को मंगलवार सुबह 11 बजे उपस्थित रहने के लिए समन भेजा था लेकिन उन्होंने निजी कारणों का हवाला देकर बेंगलुरु आने में असमर्थता जाहिर करते हुए मुलाकात के लिए चार सप्ताह का समय मांगा था।

दो निर्दलीय विधायकों- आर. शंकर और एच. नागेश के आठ जुलाई को मंत्री पद से इस्तीफा देते हुए सरकार से समर्थन लेकर बीजेपी में जाने के बाद बीजेपी के पास 107 विधायक हो गए जिनमें उसके अपने 105 विधायक हैं।

कर्नाटक। कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी द्वारा पेश विश्वास प्रस्ताव पर तीन दिन तक चर्चा के बाद आज मंगलवार को विश्वासमत देर शाम पेश किया, जिसके बाद कर्नाटक में कांग्रेस-JDS की सरकार गिर गई है। इस बीच कांग्रेस के हाथ से एक और राज्य चला गया है। पार्टी को बड़ा झटका लगा है। विधानसभा में विश्वास मत के पक्ष 99 वोट पड़े और विरोध में 105 वोट डाले गए हैं। वहीं, सरकार के गिरने के बाद भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा विजयी चिन्ह दिखाते हुए प्रसन्न मुद्रा में दिखे। वहीं, कांग्रेस-जेडीएस के खेमे में मायूसी दिखाई दे रही थी। विधानसभा अध्यक्ष ने कांग्रेस के 12 बागी विधायकों को मंगलवार सुबह 11 बजे उपस्थित रहने के लिए समन भेजा था लेकिन उन्होंने निजी कारणों का हवाला देकर बेंगलुरु आने में असमर्थता जाहिर करते हुए मुलाकात के लिए चार सप्ताह का समय मांगा था। दो निर्दलीय विधायकों- आर. शंकर और एच. नागेश के आठ जुलाई को मंत्री पद से इस्तीफा देते हुए सरकार से समर्थन लेकर बीजेपी में जाने के बाद बीजेपी के पास 107 विधायक हो गए जिनमें उसके अपने 105 विधायक हैं।