कर्नाटक: पूर्व CM कुमारस्वामी और सिद्धारमैया समेत कई नेताओं के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज

कुमारस्वामी-सिद्धारमैया-शिवकुमार
कर्नाटक: पूर्व CM कुमारस्वामी और सिद्धारमैया समेत कई नेताओं के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज

नई दिल्ली। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और जनता दल सेकुलर के नेता एचडी कुमारस्वामी, कांग्रेस के नेता सिद्धारमैया, जी परमेश्वर, डीके शिवकुमार और दिनेश गुंडु राव समेत कई नेताओं पर बेंगलुरु पुलिस ने मानहानि और देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है। यह केस मल्लिकार्जुन नामक एक सामाजिक कार्यकर्ता की शिकायत पर दर्ज किया गया है।

Karnataka Treason Case Filed Against Several Leaders Including Former Cm Kumaraswamy And Siddaramaiah :

तुमकुर के एक सामाजिक कार्यकर्ता ने आरोप लगाया है कि 27 मार्च को तत्कालीन मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने जेडीएस (जनता दल सेक्युलर) और कांग्रेस नेताओं पर आईटी छापे का विरोध किया था। जिसके कारण आईटी अधिकारी अपने कर्तव्यों का निर्वहन ठीक से नहीं कर सके और मौके पर मौजूद पुलिस ने इस प्रदर्शन को रोकने के लिए कुछ भी नहीं किया।

बता दें कि कांग्रेस के साथ गठबंधन सरकार में मुख्यमंत्री रहते कुमारस्वामी ने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, अपनी सरकार में उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वरा, गठबंधन सरकार के कई अन्य मंत्रियों, सांसदों के साथ 27 मार्च 2019 को क्वींस रोड स्थित आयकर विभाग के दफ्तर के बाहर विरोध- प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन के दौरान आयकर विभाग के अधिकारियों के लिए भाजपा का एजेंट जैसे नारे भी लगाए गए थे। यह स्पष्ट रूप से मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन है।

वहीं कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री शिवकुमार ने अपने खिलाफ दर्ज मामले पर कहा, ‘यह राजनीतिक प्रतिशोध है। सभी मामले भाजपा के इन अधिकारियों और मित्रों द्वारा किए जा रहे हैं। हमें इसके बारे में पता है। हम इसे राजनीतिक रूप से लड़ेंगे। हम जेल जाने के लिए तैयार हैं।

शिकायतकर्ता का यह भी आरोप है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने जेडीएस और कांग्रेस नेताओं के ठिकानों पर आयकर विभाग छापे के बारे में मीडिया को जानकारी लीक की थी। यह जानकारी छापेमारी से ठीक पहले लीक की गई थी। जिस कारण सरकारी कार्रवाई बाधित हुई। पुलिस का कहना है कि अदालत के आदेश के बाद यह मामला दर्ज किया है।

नई दिल्ली। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और जनता दल सेकुलर के नेता एचडी कुमारस्वामी, कांग्रेस के नेता सिद्धारमैया, जी परमेश्वर, डीके शिवकुमार और दिनेश गुंडु राव समेत कई नेताओं पर बेंगलुरु पुलिस ने मानहानि और देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है। यह केस मल्लिकार्जुन नामक एक सामाजिक कार्यकर्ता की शिकायत पर दर्ज किया गया है। तुमकुर के एक सामाजिक कार्यकर्ता ने आरोप लगाया है कि 27 मार्च को तत्कालीन मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने जेडीएस (जनता दल सेक्युलर) और कांग्रेस नेताओं पर आईटी छापे का विरोध किया था। जिसके कारण आईटी अधिकारी अपने कर्तव्यों का निर्वहन ठीक से नहीं कर सके और मौके पर मौजूद पुलिस ने इस प्रदर्शन को रोकने के लिए कुछ भी नहीं किया। बता दें कि कांग्रेस के साथ गठबंधन सरकार में मुख्यमंत्री रहते कुमारस्वामी ने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, अपनी सरकार में उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वरा, गठबंधन सरकार के कई अन्य मंत्रियों, सांसदों के साथ 27 मार्च 2019 को क्वींस रोड स्थित आयकर विभाग के दफ्तर के बाहर विरोध- प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन के दौरान आयकर विभाग के अधिकारियों के लिए भाजपा का एजेंट जैसे नारे भी लगाए गए थे। यह स्पष्ट रूप से मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन है। वहीं कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री शिवकुमार ने अपने खिलाफ दर्ज मामले पर कहा, 'यह राजनीतिक प्रतिशोध है। सभी मामले भाजपा के इन अधिकारियों और मित्रों द्वारा किए जा रहे हैं। हमें इसके बारे में पता है। हम इसे राजनीतिक रूप से लड़ेंगे। हम जेल जाने के लिए तैयार हैं। शिकायतकर्ता का यह भी आरोप है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने जेडीएस और कांग्रेस नेताओं के ठिकानों पर आयकर विभाग छापे के बारे में मीडिया को जानकारी लीक की थी। यह जानकारी छापेमारी से ठीक पहले लीक की गई थी। जिस कारण सरकारी कार्रवाई बाधित हुई। पुलिस का कहना है कि अदालत के आदेश के बाद यह मामला दर्ज किया है।