INX मीडिया केस: CBI ने कार्ति चिदंबरम की 9 और दिन की हिरासत मांगी

INX मीडिया केस: CBI ने कार्ति चिदंबरम की 9 और दिन की हिरासत मांगी
INX मीडिया केस: CBI ने कार्ति चिदंबरम की 9 और दिन की हिरासत मांगी

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मंगलवार को आएनएक्स मीडिया धनशोधन मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम की नौ और दिन की हिरासत मांगी। कार्ति चिदंबरम के वकील अभिषेक सिंघवी द्वारा सीबीआई की याचिका पर विरोध जताने के बाद विशेष अदालत में हो रही मामले की सुनवाई को अपरान्ह दो बजे तक स्थगित कर दिया गया।

Karti Chidambaram Inx Media Case Hearing In Patiala House Court :

सिंघवी ने अदालत से कहा कि आरोपी पहले ही पांच दिन एजेंसी की हिरासत में बिता चुके हैं और मुंबई में उनका सामना इंद्राणी मुखर्जी से केवल 25 मिनट तक ही कराया गया था। मुखर्जी पूर्व मीडिया कार्यकारी हैं, जो हत्या के मामले में जेल में हैं। साथ ही वह इस धनशोधन मामले में गवाह भी हैं।

सिंघवी ने तर्क दिया कि सीबीआई द्वारा रिमांड को आगे बढ़ाने वाले आवेदन में कोई भी कारण नहीं दिया गया है। उन्होंने कहा कि फिर क्यों वह कार्ति की हिरासत को आगे बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। सिंघवी कांग्रेस नेता भी हैं। उन्होंने दलील देते हुए कहा कि सीबीआई को उसकी हिरासत में बिताए गए प्रत्येक मिनट, प्रत्येक घंटे और प्रत्येक दिन का ब्यौरा देने की जरूरत है।

मामले की पिछली सुनवाई में सीबीआई ने अदालत से कहा था कि कार्ति चिदंबरम का मुखर्जी से आमना सामना कराया जाएगा। सीबीअई ने कहा था कि मुखर्जी ने कथित रूप से दावा किया है कि कार्ति ने उनसे 10 लाख डॉलर की मांग की थी और उन्होंने कार्ति को बतौर रिश्वत वह रकम अदा की थी।

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मंगलवार को आएनएक्स मीडिया धनशोधन मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम की नौ और दिन की हिरासत मांगी। कार्ति चिदंबरम के वकील अभिषेक सिंघवी द्वारा सीबीआई की याचिका पर विरोध जताने के बाद विशेष अदालत में हो रही मामले की सुनवाई को अपरान्ह दो बजे तक स्थगित कर दिया गया।सिंघवी ने अदालत से कहा कि आरोपी पहले ही पांच दिन एजेंसी की हिरासत में बिता चुके हैं और मुंबई में उनका सामना इंद्राणी मुखर्जी से केवल 25 मिनट तक ही कराया गया था। मुखर्जी पूर्व मीडिया कार्यकारी हैं, जो हत्या के मामले में जेल में हैं। साथ ही वह इस धनशोधन मामले में गवाह भी हैं।सिंघवी ने तर्क दिया कि सीबीआई द्वारा रिमांड को आगे बढ़ाने वाले आवेदन में कोई भी कारण नहीं दिया गया है। उन्होंने कहा कि फिर क्यों वह कार्ति की हिरासत को आगे बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। सिंघवी कांग्रेस नेता भी हैं। उन्होंने दलील देते हुए कहा कि सीबीआई को उसकी हिरासत में बिताए गए प्रत्येक मिनट, प्रत्येक घंटे और प्रत्येक दिन का ब्यौरा देने की जरूरत है।मामले की पिछली सुनवाई में सीबीआई ने अदालत से कहा था कि कार्ति चिदंबरम का मुखर्जी से आमना सामना कराया जाएगा। सीबीअई ने कहा था कि मुखर्जी ने कथित रूप से दावा किया है कि कार्ति ने उनसे 10 लाख डॉलर की मांग की थी और उन्होंने कार्ति को बतौर रिश्वत वह रकम अदा की थी।