1. हिन्दी समाचार
  2. कल है कार्तिक पूर्णिमा, जाने क्या है इसका महत्व, पूजन विधि और शुभ मुहूर्त

कल है कार्तिक पूर्णिमा, जाने क्या है इसका महत्व, पूजन विधि और शुभ मुहूर्त

Kartik Purnima 2019 Significance And Puja Shubh Muhurt

By आस्था सिंह 
Updated Date

लखनऊ। कार्तिक मास की पूर्णिमा को कार्तिक पूर्णिमा भी कहा जाता है। इस दिन शिव जी ने त्रिपुरासुर नामक राक्षस का वध किया था और विष्णु जी ने मत्स्य अवतार में आ गए थे। इसी दिन गुरुनानक देव जी का भी जन्म हुआ था ऐसे में इसे प्रकाश और गुरु पर्व के रूप में भी मनाया जाता है। आइए जानते हैं इसके महत्त्व पूजन विधि और शुभ मुहूर्त के बारे में….

पढ़ें :- विश्व के सबसे बड़े पर्यटन क्षेत्र के रूप में उभर रहा है केवड़िया: PM मोदी

दीप दान का महत्व

  • इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करने और दीपदान करने का विशेष महत्व है।
  • कार्तिक पूर्णिमा पर दान करने का विशेष महत्व है।
  • इस दिन दान करने से ग्रहों की समस्या को दूर किया जा सकता है।
  • इस बार कार्तिक पूर्णिमा 12 नवंबर को है।

कैसे करें स्नान और दान

  • प्रातः काल स्नान के पूर्व संकल्प लें
  • फिर नियम और तरीके से स्नान करें
  • स्नान करने के बाद सूर्य को अर्घ्य दें
  • साफ वस्त्र या सफेद वस्त्र धारण करें और फिर मंत्र जाप करें
  • मंत्र जाप के पश्चात अपनी आवश्यकतानुसार दान करें
  • तो इस दिन जल और फल ग्रहण करके उपवास रख सकते हैं।

कार्तिक पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त

कार्तिक पूर्णिमा की तिथि- 12 नवंबर 2019
पूर्णिमा तिथि आरंभ- 11 नवंबर 2019 को शाम 6 बजकर 2 मिनट से आरंभ
पूर्णिमा तिथि समाप्त- 12 नवंबर 2019 को शाम 7 बजकर 4 मिनट तक

पढ़ें :- सीएम योगी ने झांसी में स्ट्रॉबेरी महोत्सव का किया वर्चुअल शुभारम्भ, कहा-बुन्देलखण्ड में मिलेगी ...

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...