पीएम मोदी के सपने को पूरा करने के लिए यूएस से इंडिया वापस आई यह महिला

नई दिल्ली| पीएम के सपने को पूरा करने के लिए करुणा गोपाल ने अमेरिका छोड़ अपने देश वापस आने का फैसला किया है| करुणा को 14 साल की उम्र में कार्डियक अटैक आया था जिसके बाद उन्हे क्लिनिकली मृत घोषित कर दिया गया लेकिन उसके बाद भी उन्होने हार नहीं मानी और फिर जी उठी|




उन्होंने पढ़ाई पूरी करने के बाद एनआईआईटी में पढ़ाना शुरू कर दिया और साथ ही सॉफ्टवेयर इंजीनियर का काम भी करने लगी| 1991 में करुणा ने गोपालकृष्ण से शादी कर ली| करुणा देश में 100 स्मार्टसिटी बनाने की प्रमुख सलाहकार है| करुणा ने यह काम अपने घर से ही शुरू किया| 1990 में उनके पास एक टीम भी थी| यही से उनके काम को एक नई पहचान मिली|

इस दौरान उन्हे अमेरिका, सिंगापुर आदि देशों से स्मार्ट सिटी पर काम करने का प्रस्ताव आया और वो उनपर काम करने लगी| अपने काम की वजह से वो मोदी सरकार के संपर्क में आईं| उन्होनें ही देश में स्मार्ट सिटी का प्रोजेक्ट डिज़ाइन किया है| पीएम मोदी ने खुद उन्हें इस काम के लिए भारत बुलाया है|

रिपोर्ट: कोमल निगम




Loading...