1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Karwa Chauth 2022: करवा चौथ के व्रत में इन बातों का रखें ध्यान, जानें व्रत की तिथि और महत्व

Karwa Chauth 2022: करवा चौथ के व्रत में इन बातों का रखें ध्यान, जानें व्रत की तिथि और महत्व

सनातन धर्म में पति के स्वास्थ्य और लंबी आयु के लिए महिलाएं कठिन व्रत और उपवास का पालन करती। महिलाओं के द्वारा करवा चौथ के कठिन व्रत का पालन किया जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Karwa Chauth 2022 : सनातन धर्म में पति के स्वास्थ्य और लंबी आयु के लिए महिलाएं कठिन व्रत और उपवास का पालन करती। महिलाओं के द्वारा करवा चौथ के कठिन व्रत का पालन किया जाता है। इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखती हैं और शाम के समय चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत का पारण करती हैं। करवा चौथ हर साल कार्तिक मास की चतुर्थी तिथि को मनाई जाती है। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती का पूजन किया जाता है। इस व्रत में महिलाएं सोलह श्रृंगार करके भगवान की पूजा करती है। महिलाएं एक जगह इकट्ठा हो कर भगवान भगवान की पूजा करती है और गीत संगीत के साथ उत्सव मनाती है।

पढ़ें :- Karwa Chauth 2022 : करवा चौथ पर बन रहे शुभ संयोग, जानें पूजन विधि और मुहूर्त

कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि के दिन करवा चौथ का व्रत किया जाता है। इस साल यह व्रत 13 अक्टूबर 2022 को रखेगा जाएगा। इस दिन चंद्रोदय का विशेष महत्व है क्योंकि यह व्रत का चंद्रमा को अर्घ्य देने के बाद ही खुलता है। करवा चौथ के दिन चंद्रोदय रात 8 बजकर 9 मिनट पर होगा।

करवा चैथ के दिन सुहागिन महिलाएं चंद्रमा को छलनी से देखकर अर्घ्य देती हैं और व्रत खोलती हैं। यदि कोई अविवाहित लड़की चंद्रमा को देखकर व्रत खोलती है तो उसे पूजा के समय छलनी का उपयोग नहीं करना चाहिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...