कासगंज हिंसा: 49 अभियुक्तों की गिरफ्तारी के साथ SIT गठित, पूर्व सीएम अखिलेश ने दिया ये बयान

कासगंज हिंसा: 49 अभियुक्तों की गिरफ्तारी के साथ SIT गठित, पूर्व सीएम अखिलेश ने दिया ये बयान
कासगंज हिंसा: 49 अभियुक्तों की गिरफ्तारी के साथ SIT गठित, पूर्व सीएम अखिलेश ने दिया ये बयान
कासगंज। उत्तर प्रदेश के कासगंज हिंसा में मृत चंदन गुप्ता के अंतिम संस्कार के दौरान श्मशान से लौट रहे लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। वहीं इस मामले को लेकर एटा के सांसद राजवीर सिंह भी धरने पर बैठने गए। इस पूरे मामले में पुलिस ने अभी तक 49 लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) का भी गठन किया गया है। एसआईटी शेष अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए दबिशें दे रही है। उन्होंने बताया कि कासगंज…

कासगंज। उत्तर प्रदेश के कासगंज हिंसा में मृत चंदन गुप्ता के अंतिम संस्कार के दौरान श्मशान से लौट रहे लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। वहीं इस मामले को लेकर एटा के सांसद राजवीर सिंह भी धरने पर बैठने गए। इस पूरे मामले में पुलिस ने अभी तक 49 लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) का भी गठन किया गया है। एसआईटी शेष अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए दबिशें दे रही है।

उन्होंने बताया कि कासगंज में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस, पीएसी एवं आरएएफ की तैनाती की गई है। पूरे मामले में लगातार नजर रखी जा रही है। इससे पहले शनिवार सुबह उपद्रवियों ने अब तक चार दुकान और दो बसों में आग लगा दी। अलीगढ़ मंडलायुक्त और आईजी समेत कई जिलों के अधिकारी और फोर्स हालात को नियंत्रित करने के लिए मौजूद हैं।

{ यह भी पढ़ें:- पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हेमवती नन्दन बहुगुणा के नाम पर डाक टिकट जारी करेंगे नरेन्द्र मोदी }

स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। कासगंज शहर के सभी पेट्रोल पंप बंद करा दिए गए हैं। बसों का परिचालन भी ठप हो गया है। कासगंज जिले की सभी सीमाएं सील कर पीएसी लगाई गई है। सांप्रदायिक बवाल के बाद कासगंज जा रही साध्वी प्राची व उनके काफिले को सिकंदराराऊ पुलिस ने कासगंज रोड पर रोक लिया। इस दौरान उनकी सिकंदराराऊ कोतवाल से नोंकझोंक हो गई। गाड़ी की चाबी निकालने से समर्थक आक्रोशित हो गए। समर्थकों के साथ साध्वी पंत चौराहा पर धरने पर बैठ गईं। जिससे अलीगढ़-एटा व मथुरा-बरेली मार्ग पर जाम लग गया।

पूर्व सीएम अखिलेश यादव का बयान-

{ यह भी पढ़ें:- लखनऊ: अचानक प्लेटफॉर्म बदलने से मची भगदड़, 1 की मौत कई घायल }

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बयान दिया है कि देश के गणतंत्र दिवस के दिन ऐसी घटना होना दुर्भाग्यपूर्ण है। कासगंज के लोग एक-दूसरे का सम्मान करते हैं। मामले में इसके दोषियों पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन किसी के साथ अन्याय न हो।

Loading...