भारत के बड़े एक्‍सपोर्ट हब के रूप में विकसित होगी काशी : पीएम मोदी

pm modi
भारत के बड़े एक्‍सपोर्ट हब के रूप में विकसित होगी काशी : पीएम मोदी

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अन्य सेवियों से संवाद किए। इस दौरान पीएम मोदी बनारसी अंदाज में नजर आए। संवाद की शुरूआत से पहले ही पीएम मोदी बोले हर—हर महादेव!! इसके साथ ही उन्होंने कहा कि काशी के पुण्य धरती के आप सब पुण्यात्मा लोगन के प्रणाम हौ…। इसके बाद उन्‍होंने सहयोग और मानव सेवा का अद्भुत नजीर प्रस्तुत करने वाली विभिन्न संस्थाओं संग संवाद किया।

Kashi To Develop Into Indias Largest Export Hub Pm Modi :

पीएम ने कहा कि यह भगवान भोले शंकर का ही आशीर्वाद है कि कोरोना के इस संकट काल में हमारी काशी उम्मीद और उत्साह से भरी हुई है। पीएम ने कहा कि ये सही है कि लोग बाबा विश्वनाथ धाम नहीं जा पा रहे हैं। यह भी सही है कि मानस मंदिर, दुर्गाकुंड, संकटमोचन में सावन का मेला नहीं लग पा रहा है। लेकिन यह भी सही है कि इस अभूतपूर्व संकट के समय में हमारी काशी ने इस अभूतपूर्व संकट का डटकर मुकाबला किया है।

पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान वाराणसी के गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट के गंगाधर उपाध्याय, एचडीएफसी बैंक वाराणसी के सर्किल हेड मनीष टंडन, राष्ट्रीय रोटी बैंक की अध्यक्ष पूनम सिंह और सेंट्रल सिंधी पंचायत के पूर्व महामंत्री समाजसेवी सुरेंद्र लालवानी तथा बुनकर व सामाजिक कार्यकर्ता हाजी अनवर से सीधे संवाद किया और अनुभव को साझा किया।

इसके अलावा उन्‍होंने अखिल भारतीय केशरवानी वैश्‍य युवक सभा के प्रतिनि‍धि संदीप केसरी से भी संवाद किया और लॉकडाउन के दौरान किए गए कार्यों की सराहना की। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सेवा करने वाला सेवा का फल नहीं मांगता है। वह दूसरों की निस्वार्थ भाव से सेवा करता रहता है। पुरानी मान्यता है कि एक समय महादेव ने खुद मां अन्नपूर्णा से भिक्षा मांगी थी, तभी से काशी पर ये विशेष आशीर्वाद रहा है कि यहां कोई भूखा नहीं सोएगा। मां अन्नपूर्णा और बाबा विश्वनाथ सबके खाने का इंतज़ाम कर देंगे।

पीएम ने कहा कि यह बहुत ही सौभाग्य की बात है कि तमाम संगठनों के लिए गरीबों की सेवा का माध्यम भगवान ने हमें बनाया। एक तरह से आप सभी मां अन्नपूर्णा और बाबा विश्वनाथ के दूत बनकर हर ज़रूरतमंद तक पहुंचे। कम समय में फूड हेल्पलाइन और कम्यूनिटी किचन का व्यापक नेटवर्क तैयार करना, हेल्पलाइन विकसित करना, डेटा साइंस की मदद लेना, वाराणसी स्मार्ट सिटी के कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का भरपूर इस्तेमाल करना, यानि हर स्तर पर सभी ने गरीबों की मदद के लिए पूरी क्षमता से काम किया।

पीएम ने कहा कि मैं बचपन में सुना करता था एक सोनार घर में काम किया करते थे। वे अस्पताल में मरीज के तीमारदारों को रोज सुबह दातुन बांटते थे। इस सेवा ने उनकी विश्वसनीयता बहुत बढ़ा दी थी। जो सेवा लेता है, वह भी आगे किसी की मदद करता है।

 

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अन्य सेवियों से संवाद किए। इस दौरान पीएम मोदी बनारसी अंदाज में नजर आए। संवाद की शुरूआत से पहले ही पीएम मोदी बोले हर—हर महादेव!! इसके साथ ही उन्होंने कहा कि काशी के पुण्य धरती के आप सब पुण्यात्मा लोगन के प्रणाम हौ...। इसके बाद उन्‍होंने सहयोग और मानव सेवा का अद्भुत नजीर प्रस्तुत करने वाली विभिन्न संस्थाओं संग संवाद किया। पीएम ने कहा कि यह भगवान भोले शंकर का ही आशीर्वाद है कि कोरोना के इस संकट काल में हमारी काशी उम्मीद और उत्साह से भरी हुई है। पीएम ने कहा कि ये सही है कि लोग बाबा विश्वनाथ धाम नहीं जा पा रहे हैं। यह भी सही है कि मानस मंदिर, दुर्गाकुंड, संकटमोचन में सावन का मेला नहीं लग पा रहा है। लेकिन यह भी सही है कि इस अभूतपूर्व संकट के समय में हमारी काशी ने इस अभूतपूर्व संकट का डटकर मुकाबला किया है। पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान वाराणसी के गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट के गंगाधर उपाध्याय, एचडीएफसी बैंक वाराणसी के सर्किल हेड मनीष टंडन, राष्ट्रीय रोटी बैंक की अध्यक्ष पूनम सिंह और सेंट्रल सिंधी पंचायत के पूर्व महामंत्री समाजसेवी सुरेंद्र लालवानी तथा बुनकर व सामाजिक कार्यकर्ता हाजी अनवर से सीधे संवाद किया और अनुभव को साझा किया। इसके अलावा उन्‍होंने अखिल भारतीय केशरवानी वैश्‍य युवक सभा के प्रतिनि‍धि संदीप केसरी से भी संवाद किया और लॉकडाउन के दौरान किए गए कार्यों की सराहना की। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सेवा करने वाला सेवा का फल नहीं मांगता है। वह दूसरों की निस्वार्थ भाव से सेवा करता रहता है। पुरानी मान्यता है कि एक समय महादेव ने खुद मां अन्नपूर्णा से भिक्षा मांगी थी, तभी से काशी पर ये विशेष आशीर्वाद रहा है कि यहां कोई भूखा नहीं सोएगा। मां अन्नपूर्णा और बाबा विश्वनाथ सबके खाने का इंतज़ाम कर देंगे। पीएम ने कहा कि यह बहुत ही सौभाग्य की बात है कि तमाम संगठनों के लिए गरीबों की सेवा का माध्यम भगवान ने हमें बनाया। एक तरह से आप सभी मां अन्नपूर्णा और बाबा विश्वनाथ के दूत बनकर हर ज़रूरतमंद तक पहुंचे। कम समय में फूड हेल्पलाइन और कम्यूनिटी किचन का व्यापक नेटवर्क तैयार करना, हेल्पलाइन विकसित करना, डेटा साइंस की मदद लेना, वाराणसी स्मार्ट सिटी के कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का भरपूर इस्तेमाल करना, यानि हर स्तर पर सभी ने गरीबों की मदद के लिए पूरी क्षमता से काम किया। पीएम ने कहा कि मैं बचपन में सुना करता था एक सोनार घर में काम किया करते थे। वे अस्पताल में मरीज के तीमारदारों को रोज सुबह दातुन बांटते थे। इस सेवा ने उनकी विश्वसनीयता बहुत बढ़ा दी थी। जो सेवा लेता है, वह भी आगे किसी की मदद करता है।