कश्मीर: फिर फेंके गए सुरक्षा बलों पर पत्थर, अब ऐसे सबक सिखाएगी सेना

श्रीनगर। श्रीनगर में सुरक्षा बलों और छात्रों के बीच शुरू हुई झड़प शांत होने का नाम नहीं ले रहा। आज सुबह एक बार फिर यहां के स्थानीय कॉलेज में छात्रों का उत्पात देखने को मिला। जिसमे कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए है। बढ़ते उत्पात को देखते हुए प्रशासन को भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोडने पड़े। जिसके बाद जाकर माहौल थोड़ा शांत हुआ।



बताया जा रहा है कि सोमवार को श्रीनगर के लालचौक इलाके में पुलिस पर पत्थरबाजों ने हमला कर दिया। ये लोग रविवार को पुलवामा में छात्रों पर की गई लाठीचार्ज का विरोध कर रहे थे। सुरक्षाबलों ने प्रदर्शनकारियों को कंट्रोल करने के लिए आंसू गैस छोड़ी, वहीं पत्थरबाजों और सेना के बीच चल रहे घमासान की ग्राउंड रिपोर्ट सीआरपीएफ के डीजी ने तैयार कर ली है। उम्मीद है कि सोमवार को वो इसे गृह मंत्रालय को सौंपेंगे।




ऐसे सिखाया जाएगा सबक
जम्मू-कश्मीर में उपद्रवियों से निपटने के लिए अब प्लास्टिक बुलेट (गोली) का इस्तेमाल किया जाएगा। केंद्र सरकार की ओर से 1000 प्लास्टिक बुलेट कश्मीर घाटी में भेजा जा चुका है और सुरक्षाबलों को आदेश भी दिया गया है कि वो भीड़ को काबू में करने के लिए वो पैलेट गन का इस्तेमाल आखिरी समय में करे।