कश्मीर की जनता का सरकार पर भरोसा नहीं रहा : मायावती

Kashmir Ki Janta Ka Sarkar Par Nahi Raha Bharosa Mayawati

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने शुक्रवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर के हालात सामान्य नहीं हैं। केंद्र व राज्य, दोनों ही सरकारों से आम जनता का विश्वास उठ गया है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कार्यप्रणाली देशहित से कहीं अधिक राजनीति से प्रेरित है। उन्हें राज्य के हालात सुधारने से ज्यादा अपनी पार्टी का वर्चस्व बढ़ाने की चिंता है।




मायावती पार्टी संगठन को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए राज्यवार समीक्षा कर रही हैं। इसी क्रम में उन्होंने यहां जम्मू-कश्मीर, आंध्र प्रदेश व पश्चिम बंगाल के पार्टी नेताओं के साथ बैठक की। लखनऊ स्थित पार्टी मुख्यालय पर समीक्षा करते हुए मायावती ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी गठबंधन सरकार की गलत नीतियों के कारण वहां की आम जनता के साथ-साथ सेना को भी आंतरिक सुरक्षा के मामले में चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। वहां के हालात सामान्य नहीं हैं। केंद्र व राज्य सरकारों पर से आम जनता का विश्वास लगभग उठ चुका है। राज्य में राजनीतिक शून्यता लगातार बढ़ती ही जा रही है।




मायावती ने कहा, “जम्मू-कश्मीर, आंध्र प्रदेश व पश्चिम बंगाल में भी पार्टी के जनाधार को कैडर के आधार पर तैयार करने की जरूरत है। लोग सांप्रदायिक ताकतों के ‘सबका साथ सबका विकास’ वाले जुमले की हकीकत जब अच्छी तरह समझ जाएंगे, तब फिर हमारी तरफ ही रुख करेंगे। बीएसपी को इन राज्यों में राज्य की पार्टी के रूप में उभारने के लिए भरपूर कोशिश करनी चाहिए।”

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने शुक्रवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर के हालात सामान्य नहीं हैं। केंद्र व राज्य, दोनों ही सरकारों से आम जनता का विश्वास उठ गया है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कार्यप्रणाली देशहित से कहीं अधिक राजनीति से प्रेरित है। उन्हें राज्य के हालात सुधारने से ज्यादा अपनी पार्टी का वर्चस्व बढ़ाने की चिंता है। मायावती पार्टी संगठन को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए राज्यवार समीक्षा कर…