काठमांडू-दिल्ली मैत्री बस का लाभ उठा रहे तस्कर

सोनौली: पिछले वर्ष भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेपाल दौरे के बाद से भारत सरकार ने दोनों देशों के पर्यटकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए नेपाल की राजधानी काठमांडू से दिल्ली के लिए सीधी बस सेवा की शुरुआत की थी। इसके बाद से दोनों देशों के पर्यटकों को इस बस सेवा का लाभ मिल रहा है, लेकिन इस मैत्री बस का पर्यटकों के साथ-साथ तस्कर भी फायदा उठा रहे हैं।

इस सीधी बस सेवा के जरिये वे सोना, कीमती पुरानी मूर्तियां, जाली नोट और मादक पदार्थों की तस्करी कर रहे हैं। भारत-नेपाल की 1781 किलोमीटर की खुली सीमा होने के कारण हमेशा से ही तस्करों के लिए यह सबसे सुरक्षित और सुगम सीमा मानी जाती है और इस खुली सीमा का फायदा हमेशा से ही तस्कर उठाते रहे हैं। जिसके बाद से भारत सरकार ने भारत-नेपाल सीमा पर एसएसबी तैनात कर दी। तब से नेपाल से होने वाली तस्करी में कुछ कमी आई है।

जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल से अपने रिश्ते सुधारने के लिए पिछले साल काठमांडू से दिल्ली के लिए सीधी बस की शुरुआत की तो दोनों देशों के पर्यटकों को इसका लाभ मिलने लगा और प्रतिदिन काठमांडू से बस चल कर भारत के सोनौली सीमा से भारत में प्रवेश कर दिल्ली जाती है। लेकिन इस सीधी बस का फायदा पर्यटकों के साथ तस्कर भी लेने लगे हैं।




बस से सफर करने वाले पर्यटकों की सूची दूतावास से जारी होती है। काठमांडू से दिल्ली जाने का रूट भी निर्धारित होता है, लेकिन बस में पर्यटकों की सूची कुछ और होती है और यात्रा कोई और करता है। इसके साथ ही बस के लिए जो रूट पहले से तय रहता है उस रूट पर नहीं जाने की भी शिकायत भारत की सुरक्षा एजेंसियों को मिली है।

हाल ही में भारत-नेपाल की सोनौली सीमा पर इसी मैत्री बस से 3 अगस्त को कस्टम और डीआरआई की टीम ने दिल्ली की रहने वाली एक महिला के पास से 16 करोड़ की कोकेन बरामद की थी। वहीं 24 अगस्त को काठमांडू से दिल्ली जा रही बस में सोनौली सीमा पर एसएसबी ने चेकिंग के दौरान मणिपुर की रहने वाली एक महिला के पास से 60 करोड़ का कोकेन बरामद किया। जब सुरक्षा एजेंसियों ने उस महिला से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसे ये पैकेट काठमांडू में होटल में दिया गया था और उसको ये दिल्ली पहुंचाना था।

सीमा की सुरक्षा में लगे एसएसबी के सेनानायक शिवदयाल का कहना है कि इस तस्करी के पीछे एक रैकेट काम कर रहा है और जल्द ही मैत्री बस से होने वाली तस्करी पर लगाम लगाई जायेगी।

महराजगंज से विजय चौरसिया की रिपोर्ट

Loading...