नकली भारतीय नोटों का गेटवे बना काठमांडू का त्रिभुवन हवाई अड्डा 

नकली भारतीय नोटों का गेटवे बना काठमांडू का त्रिभुवन हवाई अड्डा 
नकली भारतीय नोटों का गेटवे बना काठमांडू का त्रिभुवन हवाई अड्डा 

नोट कारोबारियों के लिए मुफीद बने कतर एयरवेज के विमान

Kathmandus Tribhuvan Airport Makes Gates Of Fake Indian Currency Notes :

महराजगंज: नेपाल में ताबड़तोड़ हो रही भारतीय नकली नोटों की बरामदगी से नेपाल सरकार के होश फाख्ता हैं। सबसे अधिक बरामदगियां काठमांडू के त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हुई हैं। बीते वर्षों में हुई बरामदियों के बावजूद चार दिन पूर्व भी हवाई अड्डे पर हुई  7.68 करोड़ रुपए भारतीय नकली नोट की बरामदगी ने यह स्पष्ट कर दिया है कि त्रिभुवन हवाई अड्डा नकली नोट का गेट वे बन गया है। नेपाल सरकार हरकत में है। बाजारों व व्यापारिक संस्थानों को भारतीय दो हजार व पांच सौ के नोट न लेने के विशेष एडवाइजरी जारी किए गए हैं।

नकली नोट की खेप के साथ पकड़े गए पाकिस्तानी नागरिक नसीरुद्दीन, मोहम्मद अतर व नदिया अंबर ने पूछ़ताछ में कई ऐसे खुलासे किए हैं। जिसमें कतर एयरवेज के विमान को काफी मुफीद माना गया है।
नेपाल में भारी मात्रा में नकली नोट आ चुके हैं। जिनकी खपत भारत-नेपाल के सीमावर्ती बाजारों में की जा रही है।

पिछले वर्षों में हुई नकली भारतीय नोटों की बड़ी  बरामदगियां : 

  • 10 अगस्त 2010 को त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पाकिस्तानी नागरिक हारूक मोहम्मद को 25 लाख रुपये के जाली नोट के साथ पकड़ा गया।
  • 9 अप्रैल 2016 को नेपाल के काठमांडू में पाकिस्तानी नागरिक मोहम्मद नदीम समेत 6 को एक करोड़ जाली नोट की बरामदगी हुई ।
  • 7 अगस्त 2012 को नेपाल की राजधानी काठमांडू में एक होटल में दो पाकिस्तानी मोहम्मद मिनुला व सोहेल मोहम्मद के साथ नेपाली नागरिक बशीर मियां के पास 29 लाख 50 हजार  नकली नोट बरामद हुए।
  • 23 मई वर्ष 2016 को बीस लाख नकली भारतीय नोट के साथ आठ लोग नेपाली पुलिस के हत्थे चढ़े। उक्त मामलों में भी कतर एयरवेज के विमानों को नकली नोट लाने में प्रयुक्त किया गया था।

रिपोर्ट-विजय चौरसिया/धर्मेंद्र चौधरी

नोट कारोबारियों के लिए मुफीद बने कतर एयरवेज के विमान महराजगंज: नेपाल में ताबड़तोड़ हो रही भारतीय नकली नोटों की बरामदगी से नेपाल सरकार के होश फाख्ता हैं। सबसे अधिक बरामदगियां काठमांडू के त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हुई हैं। बीते वर्षों में हुई बरामदियों के बावजूद चार दिन पूर्व भी हवाई अड्डे पर हुई  7.68 करोड़ रुपए भारतीय नकली नोट की बरामदगी ने यह स्पष्ट कर दिया है कि त्रिभुवन हवाई अड्डा नकली नोट का गेट वे बन गया है। नेपाल सरकार हरकत में है। बाजारों व व्यापारिक संस्थानों को भारतीय दो हजार व पांच सौ के नोट न लेने के विशेष एडवाइजरी जारी किए गए हैं। नकली नोट की खेप के साथ पकड़े गए पाकिस्तानी नागरिक नसीरुद्दीन, मोहम्मद अतर व नदिया अंबर ने पूछ़ताछ में कई ऐसे खुलासे किए हैं। जिसमें कतर एयरवेज के विमान को काफी मुफीद माना गया है। नेपाल में भारी मात्रा में नकली नोट आ चुके हैं। जिनकी खपत भारत-नेपाल के सीमावर्ती बाजारों में की जा रही है। पिछले वर्षों में हुई नकली भारतीय नोटों की बड़ी  बरामदगियां : 
  • 10 अगस्त 2010 को त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पाकिस्तानी नागरिक हारूक मोहम्मद को 25 लाख रुपये के जाली नोट के साथ पकड़ा गया।
  • 9 अप्रैल 2016 को नेपाल के काठमांडू में पाकिस्तानी नागरिक मोहम्मद नदीम समेत 6 को एक करोड़ जाली नोट की बरामदगी हुई ।
  • 7 अगस्त 2012 को नेपाल की राजधानी काठमांडू में एक होटल में दो पाकिस्तानी मोहम्मद मिनुला व सोहेल मोहम्मद के साथ नेपाली नागरिक बशीर मियां के पास 29 लाख 50 हजार  नकली नोट बरामद हुए।
  • 23 मई वर्ष 2016 को बीस लाख नकली भारतीय नोट के साथ आठ लोग नेपाली पुलिस के हत्थे चढ़े। उक्त मामलों में भी कतर एयरवेज के विमानों को नकली नोट लाने में प्रयुक्त किया गया था।
रिपोर्ट-विजय चौरसिया/धर्मेंद्र चौधरी