कठुआ गैंगरेप और मर्डर केस : सांजी राम समेत 6 आरोपी दोषी करार

kathuwa
कठुआ गैंगरेप और मर्डर केस : सात आरोपियों में पुजारी समेत 6 दोषी करार

नई दिल्ली। जम्मू—कश्मीर के कठुआ में आठ वर्षीय मासूम के साथ गैंगरेप के बाद उसकी निर्मम हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में पठानकोट की अदालत ने मुख्य आरोपी सांजी राम समेत अन्य 6 आरोपियों को दोषी करार दिया है। इसके अलावा सातवें आरोपी विशाल को बरी कर दिया गया है। इन सभी आरोपियों की सजा का ऐलान भी आज दोपहर दो बजे किया जाएगा।

Kathua Gangrape And Murder Case Five Accused Convicted Trial Begins :

कोर्ट ने जिन छह आरोपियों को दोषी करार दिया गया है कि उसमें मुख्य आरोपी ग्राम प्रधान सांजी राम, दीपक खजुरिया, परवेश दोषी, तिलक राज, आनंद दत्ता, सुरेंद्र कुमार शामिल हैं। जबकि सांजी राम का बेटे विशाल को बरी कर दिया है। कठुआ गैंगरेप और मर्डर केस ने पूरे देश को झकझोर दिया था। इस मामले में पुलिस ने कुल 8 लोगों को गिरफ्तार किया था, जिनमें से एक को नाबालिग बताया गया।

हालांकि, मेडिकल परीक्षण से यह भी सामने आया कि नाबालिग आरोपी 19 साल का है। पूरी वारदात के मुख्य आरोपी ने खुद ही सरेंडर कर दिया था। बता दें कि शुरुआत में इस मसले को जम्मू कोर्ट में सुना गया लेकिन बाद में पठानकोट कोर्ट में इसकी सुनवाई हुई जहां पर आज इसका फैसला सुनाया गया। वहीं इस फैसले को देखते ही वहां पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर दी गयी है।

नई दिल्ली। जम्मू—कश्मीर के कठुआ में आठ वर्षीय मासूम के साथ गैंगरेप के बाद उसकी निर्मम हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में पठानकोट की अदालत ने मुख्य आरोपी सांजी राम समेत अन्य 6 आरोपियों को दोषी करार दिया है। इसके अलावा सातवें आरोपी विशाल को बरी कर दिया गया है। इन सभी आरोपियों की सजा का ऐलान भी आज दोपहर दो बजे किया जाएगा। कोर्ट ने जिन छह आरोपियों को दोषी करार दिया गया है कि उसमें मुख्य आरोपी ग्राम प्रधान सांजी राम, दीपक खजुरिया, परवेश दोषी, तिलक राज, आनंद दत्ता, सुरेंद्र कुमार शामिल हैं। जबकि सांजी राम का बेटे विशाल को बरी कर दिया है। कठुआ गैंगरेप और मर्डर केस ने पूरे देश को झकझोर दिया था। इस मामले में पुलिस ने कुल 8 लोगों को गिरफ्तार किया था, जिनमें से एक को नाबालिग बताया गया। हालांकि, मेडिकल परीक्षण से यह भी सामने आया कि नाबालिग आरोपी 19 साल का है। पूरी वारदात के मुख्य आरोपी ने खुद ही सरेंडर कर दिया था। बता दें कि शुरुआत में इस मसले को जम्मू कोर्ट में सुना गया लेकिन बाद में पठानकोट कोर्ट में इसकी सुनवाई हुई जहां पर आज इसका फैसला सुनाया गया। वहीं इस फैसले को देखते ही वहां पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर दी गयी है।