कल से लगेगा कांवडिय़ों का मेला, चार दिन बंद रहेगा लखनऊ-अयोध्या हाईवे

c

लखनऊ। सावन मास में रामनगरी में कल से कांवडिय़ों का मेला लगेगा। ऐसे में चार दिन तक लखनऊ- अयोध्या हाईवे बंद रहेगा। प्रशासन ने कांवडिय़ों की भीड़ से निपटने के लिए तैयारी शुरू कर दी है। सरयू के घाटों से लेकर हाईवे तक पर कांवडिय़ों का रेला होता है। इनकी सुरक्षा को लेकर प्रशासन ने खाका तैयार कर लिया है।

Kawadiya Mela From Tomorrow Lucknow Ayodhaya Highway Closed For 4 Days :

सावन मेला तीन अगस्त से पूरे रंग में होगा। इससे पूर्व रामनगरी कांवडिय़ों से गुलजार होगी। सर्वाधिक भीड़ त्रयोदशी पर 30 जुलाई को होगी। जब आसपास के जिलों अंबेडकरनगर, गोंडा, बस्ती, बलरामपुर, टांडा आदि से बड़ी संख्या में भक्त अयोध्या सरयू जल लेने पहुंचेंगे।

हालंकि कांवडिय़ों का आगमन 27 जुलाई से ही शुरू हो जाएगा। सावन के दूसरे सोमवार 29 जुलाई व त्रयोदशी 30 जुलाई को रामनगरी में लाखों कांवडिय़ों का डेरा होगा। इसको लेकर प्रशासन ने सुरक्षा खाका तैयार कर लिया गया है। इसके अतिरिक्त यातायात व्यवस्था की भी रूपरेखा बन चुकी है।

चार दिनों तक आंतरिक सुरक्षा की दृष्टि से रामनगरी में यातायात पूरी तरह से प्रतिबंधित होगा। अमेठी, सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, गोंडा, बहराइच व बलरामपुर के मार्गों पर ट्रैफिक डायवर्जन की व्यवस्था रहेगी। हाईवे पर लखनऊ होकर गोरखपुर जाने वाले मार्ग कांवडिय़ों के लिए आरक्षित होगा। संपूर्ण मेला क्षेत्र की सीसीटीवी कैमरों से निगरानी होगी। पुलिसकर्मियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं।

लखनऊ। सावन मास में रामनगरी में कल से कांवडिय़ों का मेला लगेगा। ऐसे में चार दिन तक लखनऊ- अयोध्या हाईवे बंद रहेगा। प्रशासन ने कांवडिय़ों की भीड़ से निपटने के लिए तैयारी शुरू कर दी है। सरयू के घाटों से लेकर हाईवे तक पर कांवडिय़ों का रेला होता है। इनकी सुरक्षा को लेकर प्रशासन ने खाका तैयार कर लिया है। सावन मेला तीन अगस्त से पूरे रंग में होगा। इससे पूर्व रामनगरी कांवडिय़ों से गुलजार होगी। सर्वाधिक भीड़ त्रयोदशी पर 30 जुलाई को होगी। जब आसपास के जिलों अंबेडकरनगर, गोंडा, बस्ती, बलरामपुर, टांडा आदि से बड़ी संख्या में भक्त अयोध्या सरयू जल लेने पहुंचेंगे। हालंकि कांवडिय़ों का आगमन 27 जुलाई से ही शुरू हो जाएगा। सावन के दूसरे सोमवार 29 जुलाई व त्रयोदशी 30 जुलाई को रामनगरी में लाखों कांवडिय़ों का डेरा होगा। इसको लेकर प्रशासन ने सुरक्षा खाका तैयार कर लिया गया है। इसके अतिरिक्त यातायात व्यवस्था की भी रूपरेखा बन चुकी है। चार दिनों तक आंतरिक सुरक्षा की दृष्टि से रामनगरी में यातायात पूरी तरह से प्रतिबंधित होगा। अमेठी, सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, गोंडा, बहराइच व बलरामपुर के मार्गों पर ट्रैफिक डायवर्जन की व्यवस्था रहेगी। हाईवे पर लखनऊ होकर गोरखपुर जाने वाले मार्ग कांवडिय़ों के लिए आरक्षित होगा। संपूर्ण मेला क्षेत्र की सीसीटीवी कैमरों से निगरानी होगी। पुलिसकर्मियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं।