जारी हुआ अनोखा फरमान, 6 इंच की दूरी पर नहीं बैठे छात्र-छात्राएं तो भुगतना पड़ेगा अंजाम

अनोखा फरमान, 6 इंच की दूरी पर बैठे छात्र-छात्राएं
जारी हुआ अनोखा फरमान, 6 इंच की दूरी पर नहीं बैठे छात्र-छात्राएं तो भुगतना पड़ेगा अंजाम

इस्लामाबाद। नापाक हरकतों से जाना जाने वाला पाकिस्तान अपने अजीबोगरीब फरमान की वजह से एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। दरअसल पाकिस्तान की बहरिया विश्वविद्याल ने फरमान जारी किया है कि छात्र-छात्राएं कैंपस में कम से कम 6 इंच की दूरी जरूर बना कर रखें। पाकिस्तान की इस हरकत पर सब हंस रहे हैं साथ ही जमकर विरोध भी कर रहे हैं।

Keep Distance Of 6 Inches To Male And Female Students :

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब पाकिस्तान ने विद्यार्थियों के लिए इस तरह का अजीब फरमान सुनाया हो। इससे पहले मोबाइल पर पाबंदी लगाने से लेकर लड़कियों के ड्रेस कोड पर भी नोटिस जारी किया जा चुका हैं। विश्वविद्यालय का हाल ही में जारी यह नया फरमान सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसका जमकर विरोध किया जा रहा है।

यह अधिसूचना बहरिया विश्वविद्यालय ने बीते हफ्ते कराची, लाहौर और इस्लामाबाद स्थित तीनों कैंपसों के छात्रों के संबंध में जारी की है। इस अधिसूचना में कहा गया है- विभागों के सभी लोगों को यह ध्यान रखना है कि सभी लड़के और लड़कियां एक दूसरे से करीब 6 इंच की दूरी पर खड़े हों या फिर बैंठे।

इसके साथ ही नोटिस में कहा गया है कि लड़का और लड़की को छूने पर मनाही है। कोई इसका उल्लंघन करेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। वहीं अब ऐसी खबरें आ रही हैं कि बढ़ते विरोध प्रदर्शन के बीच फेडरेशन ऑफ ऑल पाकिस्तान यूनिवर्सिटीज एकेडमिक स्टॉफ एसोसिएशन (एफएपीयूएएसए) ने बहरिया विश्वविद्यालय से इस नोटिस को वापस लेने को कहा है।

एफएपीयूएएसए के अध्यक्ष कलीमुल्लाह बारेच का कहना है कि ‘यह फरमान पूरी तरह से बकवास है। ऐसा करने से विद्यार्थियों के बीच भ्रम पैदा होगा। इस तरह की नोटिस को तत्काल प्रभाव से विश्वविद्यालय को वापस लेना चाहिए।’ वहीं यूनिवर्सिटी की प्रवक्ता महविश कामरान ने अधिसूचना का बचाव करते कहा कि ‘ऐसी अधिसूचना छात्रों के बीच अनुशासन बनाए रखने के लिए जारी की गई थी।

इस्लामाबाद। नापाक हरकतों से जाना जाने वाला पाकिस्तान अपने अजीबोगरीब फरमान की वजह से एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। दरअसल पाकिस्तान की बहरिया विश्वविद्याल ने फरमान जारी किया है कि छात्र-छात्राएं कैंपस में कम से कम 6 इंच की दूरी जरूर बना कर रखें। पाकिस्तान की इस हरकत पर सब हंस रहे हैं साथ ही जमकर विरोध भी कर रहे हैं। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब पाकिस्तान ने विद्यार्थियों के लिए इस तरह का अजीब फरमान सुनाया हो। इससे पहले मोबाइल पर पाबंदी लगाने से लेकर लड़कियों के ड्रेस कोड पर भी नोटिस जारी किया जा चुका हैं। विश्वविद्यालय का हाल ही में जारी यह नया फरमान सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसका जमकर विरोध किया जा रहा है।यह अधिसूचना बहरिया विश्वविद्यालय ने बीते हफ्ते कराची, लाहौर और इस्लामाबाद स्थित तीनों कैंपसों के छात्रों के संबंध में जारी की है। इस अधिसूचना में कहा गया है- विभागों के सभी लोगों को यह ध्यान रखना है कि सभी लड़के और लड़कियां एक दूसरे से करीब 6 इंच की दूरी पर खड़े हों या फिर बैंठे।इसके साथ ही नोटिस में कहा गया है कि लड़का और लड़की को छूने पर मनाही है। कोई इसका उल्लंघन करेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। वहीं अब ऐसी खबरें आ रही हैं कि बढ़ते विरोध प्रदर्शन के बीच फेडरेशन ऑफ ऑल पाकिस्तान यूनिवर्सिटीज एकेडमिक स्टॉफ एसोसिएशन (एफएपीयूएएसए) ने बहरिया विश्वविद्यालय से इस नोटिस को वापस लेने को कहा है।एफएपीयूएएसए के अध्यक्ष कलीमुल्लाह बारेच का कहना है कि 'यह फरमान पूरी तरह से बकवास है। ऐसा करने से विद्यार्थियों के बीच भ्रम पैदा होगा। इस तरह की नोटिस को तत्काल प्रभाव से विश्वविद्यालय को वापस लेना चाहिए।' वहीं यूनिवर्सिटी की प्रवक्ता महविश कामरान ने अधिसूचना का बचाव करते कहा कि 'ऐसी अधिसूचना छात्रों के बीच अनुशासन बनाए रखने के लिए जारी की गई थी।